Ayodhya Case: फैसले से पहले यूपी में धारा 144 लागू, अलीगढ़ में 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद

अयोध्या मामले पर फैसले को लेकर एहतियातन तौर पर मध्य प्रदेश, जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और कर्नाटक में स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे.

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट शनिवार को साढ़े 10 बजे फैसला सुनाएगा. ऐसे में देशभर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. मालूम हो कि पांच जजों की बैंच ने सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता में मैराथॉन सुनवाई के 16 अक्टूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया था. एहतियातन तौर पर यूपी पुलिस ने व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर पर भड़काऊ पोस्ट आपत्तिजनक पोस्ट डालने वाले की सूचना देने के लिए हेल्पलाइन नंबर 8874327341जारी किया है. आम नागरिक इस पर सूचना दे सकते हैं. पढ़ें अयोध्या मामले से जुड़ी अपडेट्स.

Ayodhya Case Live Updates:

  • अयोध्या पर कल आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर पूरे उत्तर प्रदेश में धारा 144 लागू.

मुंबई में 40 हजार जवान तैनात

पीआरओ मुंबई पुलिस प्रणय अशोक ने कहा, हम स्थिति को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं. हम 40 हजार जवान के साथ मजबूत मुंबई पुलिस का पूरा उपयोग करेंगे. हमारे पास आरसीपी (दंगा नियंत्रण पुलिस), लॉ एंड ऑर्डर रिजर्व, एसआरपीएफ, आरएएफ जैसे विशेष बल हैं, वे रणनीतिक स्थानों पर तैनात किए जाएंगे.

शहर की निगरानी के लिए 5 हजार से अधिक कैमरे पहले से ही लगे हैं, हम अपने कंट्रोल रूम में आने वाले फीड की मदद से निगरानी करेंगे. हम स्थिति के अनुसार अपनी ड्रोन इकाइयों को भी तैनात करेंगे.

दिल्ली में भी स्कूल बंद

अयोध्या पर कल आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर दिल्ली में कल सभी सरकारी और निजी स्कूल बंद रहेंगे.

AMU में  छात्रों की गतिविधियों पर रोक

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी सभी प्रकार की छात्र गतिविधियों को 9 और 11 नवंबर को बंद रखने का निर्देश जारी किया गया है.
  • जामिया में भी छुट्टी की घोषणा

CM कमल नाथ ने की अपील

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा, ”अयोध्या मामले पर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के मद्देनज़र मैं प्रदेश की जनता से अमन-चैन, शांति व सद्भावना की अपील करता हूं. हर वर्ग से अपील करता हुँ कि जो भी फ़ैसला आये, सभी मिलजुलकर उसका सम्मान व आदर करे. प्रदेश की गंगा-जमुनी की संस्कृति के अनुरूप हम सभी को अपना भाईचारा क़ायम रखते हुए हमारा आपसी सोहाद्र व सद्भाव क़ायम रखना है. किसी भी प्रकार की अफ़वाहो से सावधान व सजग रहे. क़ानून व्यवस्था के पालन में सभी सहयोग करे.”

मुंबई में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

सुरक्षा के मद्देनजर मुंबई पुलिस ने वाहन चेकिंग की.

Maharashtra: Vehicle checking being done by police in Mumbai, as a part of their security measure, ahead of #AyodhyaVerdict on 9th November. pic.twitter.com/ut3kjmpeYx

— ANI (@ANI) November 8, 2019

बेंगलुरु में मुस्तैद अर्द्धसैनिक कंपनियां

कर्नाटक ADGP (लॉ एंड ऑर्डर) अमर केआर पाण्डेय ने कहा, हमने कर्नाटक राज्य की रिजर्व पुलिस के 170 प्लाटून तैनात किए हैं. हमारे पास 2 अर्द्धसैनिक कंपनियां हैं जो बेंगलुरु और मंगलुरु में तैनात हैं. बेंगलुरु में CRPF, मंगलुरु द्वारा RAF द्वारा सहायता प्रदान की जाएगी और स्थिति के आधार पर केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को राज्य के किसी भी हिस्से में तैनात किया जा सकता है. उन्होंने कहा, यह एक बहुत ही यूनिक स्थिति है. ईद मिलाद नजदीक है, टीपू जयंती मनाने का मुद्दा है और बहुत ही विशेष निर्णय जो कल अपेक्षित है. इस बात को ध्यान में रखते हुए, कर्नाटक पुलिस अधिक अलर्ट पर है.

अलीगढ़ी में इंटरनेट सेवाएं बंद

अलीगढ़ में इंटरनेट सेवाएं 24 घंटे के लिए बंद कर दी जाएंगी. आज रात 12:00 बजे से कल रात 12:00 बजे तक बंद रहेगी इंटरनेट सेवाएं. अलीगढ़ के डीएम चंद्र भूषण सिंह ने यह जानकारी दी है. इसी के साथ उत्तर प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी गई है.

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा- आओ पेश करें शांति की मिसाल

अयोध्या मामले पर फैसला आने के पहले झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने ट्वीट कर लोगों से शांति और सद्भाव की मिसाल पेश करने के लिए कहा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “झारखण्ड ने हमेशा शांति और सद्भाव की मिसाल पेश की है. आइये, इस बार भी हम सब झारखण्डवासी पूरे देश को एकता, सद्भाव और भाईचारे का संदेश दें.”

रघुबर दास ने आगे कहा, “अयोध्या राम मंदिर पर शनिवार सुबह फैसला आने वाला है. झारखण्ड के सभी नागरिकों से अपील है कि फैसला जो भी हो हम उसे सहर्ष स्वीकार करें. किसी प्रकार की अफवाह पर ध्यान न दें. कोई अफवाह फैलाये तो इसकी सूचना प्रशासन को दें. प्रशासन शिकायत पर त्वरित कार्यवाही करे.”

छत्तीसगढ़ के मुख्य मंत्री भूपेश बघेल ने भी ऐसी ही अपील लोगों से की है. भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या के मसले पर आने वाले फैसले के मद्देनजर मैं प्रदेशवासियों से आपसी सद्भाव और शांति बनाए रखने की अपील करता हूं. इस मसले पर अधिकृत स्रोतों से मिलने वाली खबरों पर ही विश्वास करें और अफ़वाहों के साथ सोशल मीडिया में फेक न्यूज और अफवाहों से दूर रहें. मुख्य सचिव और डीजीपी से चर्चा कर सतर्कता बरतने, 24 घंटे चौकन्ना रहने, इंटेलिजेंस को पुख्ता करने के निर्देश दिए हैं.’

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा- न जुलूस निकालें, न धरना प्रदर्शन करें

अयोध्या फैसला आने से पहले मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने एक बयान जारी किया. उन्होंने कहा कि मीडिया के द्वारा पता चला है कि अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट कल फैसला सुनाएगा. हम पहले से देशवासियों से अपील कर रहे हैं की कोर्ट जो भी फैसला दे सभी देशवासी उसका सम्मान करें. किसी भी तरह का कोई जुलूस न निकाला जाए और न ही किसी तरीके का धरना प्रदर्शन किया जाए जिससे आपसी उन्माद पैदा हो. मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य हैं.

शरारती तत्वों और संवेदनशील जगहों पर बनाए रखें नजर: उत्तराखंड IG

उत्तराखंड के महानिदेशक (लॉ एंड ऑर्डर): ने सभी 13 जिलों की पुलिस को शरारती तत्वों और संवेदनशील स्थानों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए हैं. देहरादून, हरिद्वार, उधमसिंहनगर और नैनीताल में सख्ती बरतने के निर्देश दिए गए हैं. अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी भी राज्यभर में तैनात किए जा रहे हैं.

मध्य प्रदेश में स्कूल कॉलेज रहेंगे बंद, भोपाल में धारा 144 लागू

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग उप सचिव ने राज्य के स्कूलों के बंद रखे जाने का ऐलान करते हुए कहा, ‘राज्य शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि कल दिनांक 09 नवम्बर 2019 को मध्यप्रदेश के समस्त शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में एक दिवस का अवकाश रहेगा.’

भोपाल के कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट ने अयोध्या मामले पर आने वाले फैसले को लेकर जिले में धारा 144 लगाने का आदेश दिया. कलेक्टर के आदेशानुसार 4 से ज्यादा लोगों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगाया गया है. इसी के साथ कल यानी शनिवार को सभी निजी और सरकारी स्कूल, कॉलेज कबंद रहेंगे. जम्मू कश्मीर में भी अयोध्या मामले पर आने वाले फैसले को लेकर कल सभी स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे. एहतियातन तौर पर जम्मू कश्मीर में धारा 144 लगाई गई है. कर्नाटक में भी एहतियातन तौर पर सभी स्कूल-कॉलेज शनिवार को बंद रहेंगे.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला किसी की हार जीत नहीं: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अयोध्या मामले पर फैसला आने के पहले लोगों से न्यायपालिका का मान सम्मान बनाए रखने की मांग की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “अयोध्या पर कल सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आ रहा है. पिछले कुछ महीनों से सुप्रीम कोर्ट में निरंतर इस विषय पर सुनवाई हो रही थी, पूरा देश उत्सुकता से देख रहा था. इस दौरान समाज के सभी वर्गों की तरफ से सद्भावना का वातावरण बनाए रखने के लिए किए गए प्रयास बहुत सराहनीय हैं.”

पीएम मोदी ने आगे कहा, “देश की न्यायपालिका के मान-सम्मान को सर्वोपरि रखते हुए समाज के सभी पक्षों ने, सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों ने, सभी पक्षकारों ने बीते दिनों सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक वातावरण बनाने के लिए जो प्रयास किए, वे स्वागत योग्य हैं. कोर्ट के निर्णय के बाद भी हम सबको मिलकर सौहार्द बनाए रखना है.”

उन्होंने आगे कहा, “अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा. देशवासियों से मेरी अपील है कि हम सब की यह प्राथमिकता रहे कि ये फैसला भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल दे.”

Ayodhya Case Live Updates, Ayodhya Case: फैसले से पहले यूपी में धारा 144 लागू, अलीगढ़ में 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद

हमारी प्रतिक्रिया शांतिपूर्ण होनी चाहिए: पी विजयन

अयोध्या फैसले पर केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा, ‘हम सभी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हमारी प्रतिक्रिया शांतिपूर्ण हो चाहे फैसला कुछ भी हो. इससे नफरत फैलाने वालों के लिए कोई जगह नहीं बननी चाहिए. राज्य पुलिस को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया गया है.’

जजों और सुप्रीम कोर्ट की बढ़ाई गई सुरक्षा

फैसले के पहले एहतियातन तौर पर आज रात सुप्रीम कोर्ट की सुरक्षा बढ़ाई जाएगी. दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त बल के साथ पैरा फोर्सेज की तैनाती की जाएगी. नई दिल्ली में केस से जुड़े रह रहे मुख्य न्यायधीश और अन्य चार जजो के घरों की भी सुरक्षा बढ़ाई गई है और अतिरिक्त बल तैनात किया गया है. दिल्ली के मौजूद सभी VVIP जिन्हें पुलिस सुरक्षा दी हुई है, उनकी सुरक्षा में भी इजाफा किया गया है. खासकर नेता और जजों की सुरक्षा में.

सुप्रीम कोर्ट की सुरक्षा दिल्ली पुलिस की सिक्योरिटी यूनिट देखती है. सूत्रों के हवाले से सुप्रीम कोर्ट की इनर मोस्ट जोन की सुरक्षा दिल्ली पुलिस सिक्युरिटी देखती है. इसलिए सुप्रीम कोर्ट के अंदर जो सुरक्षा होगी वह सिक्योरिटी यूनिट देखेगी. सारे एरिया को कवर कर लिया गया है. सुप्रीम कोर्ट की तरफ आने वाली तमाम सड़के तिलक मार्ग , भगवानदास रोड , मथुरा रोड , महादेव रोड और इंडिया गेट सर्कल की सुरक्षा न्यू दिल्ली डिस्ट्रिक देखेंगी.

अलर्ट रहें जेल अधिकारी और कर्मचारी: IG जेल उत्तर प्रदेश

DGP और IG जेल UP आनंद कुमार ने नोटिस जारी करते हुए कहा कि यह कल के लिए एक अलर्ट नोटिस है, जब सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या टाइटल सूट का फैसला सुबह 10: 30 बजे दिया जाएगा. सभी जेल अधिकारियों / कर्मचारियों को अलर्ट रहें और किसी भी सहायता / आवश्यक कार्रवाई के लिए संबंधित जिला प्रशासन के साथ निरंतर संपर्क में रहें.

कैदियों की प्रतिक्रिया पर सतर्क नज़र रखें और सुनिश्चित करें कि जेलों में उनकी सांप्रदायिक संघर्ष / हिंसा नहीं हो. जेलों में बंद ऐसे तत्वों के खिलाफ कड़ी चौकसी बरती जानी चाहिए और कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जानी चाहिए जो सांप्रदायिक विद्वेष फैलाने का प्रयास करते हैं.

शिवसेना की दो टूक- सरकार नहीं ले सकती अयोध्या मामले का श्रेय

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट में फैसला आने की खबर पर शिवसेना ने एक प्रेस नोट जारी करते हुए कहा, “हमने सरकार से राम मंदिर के निर्माण पर कानून बनाने का अनुरोध किया था, लेकिन सरकार ने ऐसा नहीं किया. अब जब सुप्रीम कोर्ट आदेश दे रहा है, तो सरकार इसका श्रेय नहीं ले सकती.

कोई किसी की भावना न करे आहत: देवेंद्र फडणवीस

वहीं महाराष्ट्र के कार्यवाहक मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस में स्टेटमेंट जारी कर राम मंदिर फैसले पर लोगों को संयम और शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने कहा कि राम मंदिर के संबंध में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सभी को सम्मान करना चाहिए. लोगों से शांति और संयम की अपील करते हुए सीएम फडणवीस ने कहा कि इस परिणाम के बाद समाज में सामंजस्य बनाए रखना हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है.

उन्होंने आगे कहा कि कोई भी किसी की भावनाओं को आहत नहीं करेगा यह सभी को ध्यान रखना होगा. सभी को इस परिणाम का सम्मान करना चाहिए और कानून और व्यवस्था को बनाए रखने में योगदान देना चाहिए. किसी अफवाह पर विश्वास न करें. मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि राज्य सरकार सभी एजेंसी के संपर्क में हैं.

यूपी में स्कूल-कॉलेज बंद

9 नवंबर से लेकर 11 नवंबर तक उत्तर प्रदेश के सभी स्कूल, कॉलेज और ट्रेनिंग सेंटर बंद रहेंगे. एमजी हिरमथ, गडग जिले के उपायुक्त ने कहा कि कल अयोध्या भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के लिए एहतियातन तौर पर सभी स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे.

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने संयम बनाए रखने की अपील की

मध्यप्रदेश में राम मंदिर फैसले के मद्देनजर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. शुक्रवार को बड़ी संख्या में पुलिसबल सड़कों पर सघन चेकिंग अभियान के लिए उतरा. भोपाल में करीब 4 हजार पुलिस कर्मी सुरक्षा में तैनात किए गए हैं. पुलिस कंट्रोल रूम में कलेक्टर ने तमाम धर्मगुरुओं के साथ बैठक करके अमन की अपील की है. इस दौरान मुस्लिम समुदाय के धर्मगुरूओं ने कहा कि वो फैसले का स्वागत करेंगे.

कांग्रेस सरकार के नर्मदा क्षिप्रा मंदाकिनी न्यास के अध्यक्ष कंप्यूटर बाबा ने टीवी 9 से खास बातचीत में कहा कि फैसला जो भी आए वो सभी से अपील कर रहे हैं कि उत्साह नहीं दिखाएं. अगर राम मंदिर के पक्ष में भी फैसला आएगा तो वो जश्न नहीं मनाएंगे. पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी आम लोगों से संयम और शांति बनाए रखने की अपील की है.

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुलाई बैठक

अयोध्या मामले पर फैसले से पहले ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासनिक और पुलिस अफसरों की बैठक बुलाई है. सभी जिलों के जिलाधिकारी और एसएसपी को अलर्ट किया गया है. कानून व्यवस्था को लेकर निर्देश देते हुए कड़ाई से पालन करने को कहा गया है. इस बैठक में
रात में निगरानी और चौकसी बढ़ाने को शासन ने निर्देश दिया है. संवेदनशील जिलों पर खासी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं. 9 नवंबर से लेकर 11 नवंबर तक उत्तर प्रदेश के सभी स्कूल, कॉलेज और ट्रेनिंग सेंटर बंद रहेंगे.

ये भी पढ़ें- Ayodhya Case: शनिवार को साढे़ 10 बजे अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला