अयोध्या केस: सुप्रीम कोर्ट ने सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जफर फारूकी को सुरक्षा देने को कहा

रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का आखिरी दौर चल रहा है. 17 अक्टूबर को इस मामले की सुनवाई खत्म हो जाएगी.

नई दिल्‍ली: सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को यूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड के चैयरमैन जफर फारूकी को सुरक्षा मुहैया कराने को कहा है. जफर फारूकी ने मध्यस्थता पैनल के सदस्य श्रीराम पंचू से जान को खतरा होने की बात कही थी. इसके बाद श्रीराम पंचू ने सीजेआई को खत लिखकर इस बारे में बताया.

रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का आखिरी दौर चल रहा है. 17 अक्टूबर को इस मामले की सुनवाई खत्म हो जाएगी. मुस्लिम पक्ष की ओर से सोमवार को वकील राजीव धवन ने कहा कि वहां नमाज पढ़े जाने से रोके जाने से मुस्लिमों का दावा कमजोर नहीं हो जाता.

मुस्लिम पक्ष का हमेशा से वहां दावा रहा है. अगर ऐसा न होता तो फिर हिंदू पक्ष को 1934 में एक गुंबद को गिराने या 1949 में जबरन मूर्ति रखे जाने की क्या जरूरत थी.

राजीव धवन ने सुनवाई के दौरान औरंगजेब के बारे में भी बयान दिया. उन्‍होंने कहा कि औरंगजेब सबसे उदार शासकों में से एक था. सीमित ज्ञान वाले हिंदू विवाद के भाग्य का निर्धारण नहीं कर सकते हैं. इस्लामिक कानून बहुत जटिल है. इस पर दूसरे पक्ष की पैरोकारी कर रहे पीएन मिश्रा ने आपत्ति जताई. उन्‍होंने कहा कि धवन कैसे कह सकता है कि हमारे पास सीमित ज्ञान है?