आजम खान का नारा रामपुर तक नहीं लखनऊ तक लगता है- अखिलेश यादव

अखिलेश यादव के रामपुर आगमन पर रामपुर में सुरक्षा ने पुख्ता इंतजाम किए गए है. रामपुर के लोगों में अखिलेश के यहां आने पर नाराजगी है. किसी भी अनहोनी से बचने के लिए प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए हैं.

लखनऊ: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का रामपुर आने से पहले ही विरोध शुरू हो गया है. रामपुर के जिन लोगों की जमीन पर आजम खान ने कब्जा किया है वो लोग अखिलेश यादव के विरोध में सड़क पर उतर आए हैं.

लोगों का कहना है कि अखिलेश यादव उन इंसान के समर्थन में आ रहे हैं जिसने गरीब लोगों की जमीनों पर कब्ज़ा किया लोगों के पशुओं को चुराया है यही कारण है कि रामपुर के लोगों में गुस्सा है और सड़कों पर उनका विरोध कर रहे हैं.

अखिलेश यादव के रामपुर आगमन पर रामपुर में सुरक्षा ने पुख्ता इंतजाम किए गए है. रामपुर के लोगों में अखिलेश के यहां आने पर नाराजगी है. किसी भी अनहोनी से बचने के लिए प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए हैं.

अखिलेश ने कहा, आज़म खान का नारा सिर्फ रामपुर में नहीं लखनऊ तक लगता है. आज़म की यूनिवर्सिटी का उद्घाटन ऐतिहासिक था. रामपुर में हमने लैपटॉप बांटे और उनको खोलते ही हम और नेतीजी ही दिखाई देते होंगे. आज भी चल रहे होंगे. ये यूनिवर्सिटी जनता के लिए बनाई थी, हमारे लिए नहीं थी. यहां न मैं पढूंगा न आज़म साहेब के बेटे. बड़ी हिम्मत जुटा कर ये यूनिवर्सिटी तैयार की थी. अगर सरकार को काम देखना है कैसे यूनिवर्सिटी सुंदर बनाई जाती है तो एकबार घूमकर आये और सीखें.

सपा अध्यक्ष ने कहा कि आने वाले समय में यूनिवर्सिटी कई पीढ़ियों के भविष्य बनायेगी. यही वजह है कि सरकार आज़म के दुश्मन हैं. वो युवाओं के भविष्य बना रहे हैं सरकार उन पर मुकदमे लिख रही हैं. हर एफआईआर एक जैसी जिससे साफ है कि एक ही शख्स वो लिखवा रहा है. मैंने अखबार मे पढ़ा था कि आजम बकरी चोर हैं, शर्म आनी चाहिए. मिर्जापुर में एक पत्रकार ने सही लिखा जिसे मुकदमें झेलने पड रहे हैं.

अखिलेश ने आगे कहा कि नेताजी पर भी एक बार 100 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हुए थे, पता नहीं किसकी सरकार थी. किसी ने नहीं सोचा था ऐसा कोई सरकार करेगी. उसके बाद सबसे ज्यादा मुकदमे आज़म खान पर दर्ज हुए. हमें न्यायालय पर भरोसा है. वो हमारी मदद करेगी. पत्रकार बस सच्चाई लिख दें, सरकार कर क्या रही है. उन्नाव मामले में सरकार की भूमिका को कटघरे में खड़ा किया. पूरी सरकार आरोपी को बचा रही है. उन्नाव की बेटी और अन्य घायल हैं, जिंदा हैं या नहीं, किसी को नहीं पता. हमें सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा है, वहीं से न्याय मिलेगा. प्रदेश के मुख्यमंत्री पर मुकदमों के बारे में सब जानते हैं, उनके उपमुख्यमंत्री, अधिकारियों और नेताओं पर सब पर मुकदमे हैं, उन्होंने सबको धोखा दिया, लोकतंत्र और संविधान की धज्जियां उड़ाई.