बांग्लादेशी छात्रा ने CAA प्रोटेस्ट में लिया हिस्सा, गृह मंत्रालय ने थमाया देश छोड़ने का नोटिस

केंद्रीय विश्वविद्यालय में स्नातक की छात्रा अफ्सरा अनिका मीम को 14 फरवरी को दिए गए एक पत्र में गृह मंत्रालय के विदेश मंत्रालय के लोकल ऑफिस द्वारा 'भारत छोड़ो' नोटिस दिया गया था.
Bangladeshi student, बांग्लादेशी छात्रा ने CAA प्रोटेस्ट में लिया हिस्सा, गृह मंत्रालय ने थमाया देश छोड़ने का नोटिस

कोलकाता: पिछले दिनों हुए सीएए के विरोध में विश्व भारती विश्वविद्यालय की एक 20 वर्षीय बांग्लादेशी छात्रा ने हिस्सा लिया था. अब खबर आ रही है कि गृह मंत्रालय ने “सरकार विरोधी गतिविधियों” में कथित रूप से संलग्न होने के लिए देश छोड़ने के लिए कहा है.

केंद्रीय विश्वविद्यालय में स्नातक की छात्रा अफ्सरा अनिका मीम को 14 फरवरी को दिए गए एक पत्र में गृह मंत्रालय के विदेश मंत्रालय के लोकल ऑफिस द्वारा ‘भारत छोड़ो’ नोटिस दिया गया था. छात्रा को ये पत्र बुधवार को प्राप्त हुआ.

छात्रा को जब से ये पत्र मिला है वो काफी परेशानी है. गुरुवार को छात्रा कोलकाता में विदेशियों के क्षेत्रीय पंजीकरण कार्यालय भी गई लेकिन वहां बात नहीं बन सकी. छात्रा के कुछ दोस्तों का कहना है कि नोटिस मिलने के बाद वो बहुत हैरान है और बात करने से डर रही है.

Bangladeshi student, बांग्लादेशी छात्रा ने CAA प्रोटेस्ट में लिया हिस्सा, गृह मंत्रालय ने थमाया देश छोड़ने का नोटिस

दिसंबर में, अफ्सरा मीम ने फेसबुक पर शांतिनिकेतन में एक विरोधी सीएए विरोध की कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं. तब भी छात्रा को बहुत ट्रोल किया गया था और उसे”बांग्लादेशी आतंकवादी” तक कहा गया था. हालांकि जो उसको ‘लीव इंडिया नोटिस’ मिला है उसमें उसके फेसबुक पोस्ट का कोई जिक्र नहीं है. नोटिस में उसको 15 दिनों के भीतर देश छोड़ने को कहा गया है.

नोटिस में लिखा है, “वह सरकार विरोधी गतिविधियों में लिप्त पाई गई है और इस तरह की गतिविधि उसके वीजा का उल्लंघन है. आदेश में आगे लिखा है कि इस नोटिस के मिलने के बाद कोई भी विदेशी भारत में नहीं रहेगा. उसे 15 दिनों के भीतर भारत छोड़ना पड़ेगा.

सीपीएम नेता मोहम्मद सलीम ने कहा कि वीजा नियम किसी भी छात्र को राजनीतिक रूप से सक्रिय होने से नहीं रोकते. यह केवल छात्रों को किसी विदेशी देश में राजनीतिक गतिविधि में भाग लेने से रोकता है.

Related Posts