SPG संशोधन बिल राज्यसभा में भी पास, प्रियंका की सुरक्षा में सेंध पर BJP-कांग्रेस में जुबानी जंग तेज

रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि 'पूरे देश में सुरक्षा के साथ समझौता किया जा रहा है. लड़कियों के साथ छेड़छाड़/दुष्कर्म हो रहा है.'

संसद का शीतकालीन सत्र इन दिनों जारी है. आज 12वें दिन गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में एसपीजी (संशोधन) बिल 2019 पेश किया. कांग्रेस ने इस बिल पर कड़ा विरोध जताया और सदन से वॉक आउट कर दिया. हालांकि, यह बिल राज्यसभा में पास हो गया.

इस बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की सुरक्षा में कथित तौर पर सेंध को लेकर बीजेपी और कांग्रेस नेताओं के बीच जमकर जुबानी जंग हुई. प्रियंका के पति रॉबर्ट वाड्रा यह मामला सिर्फ प्रियंका, मेरी बेटी या बेटे, मेरे या गांधी परिवार की सुरक्षा का नहीं है.

रॉबर्ट वाड्रा ने अपने फेसबुक अकाउंट पर इसे लेकर एक पोस्ट लिखी. उन्होंने लिखा, “यह मामला सिर्फ प्रियंका, मेरी बेटी या बेटे, मेरे या गांधी परिवार की सुरक्षा का नहीं है. यह हमारे नागरिकों, विशेष रूप से हमारे देश की महिलाओं को सुरक्षित रखने और सुरक्षित महसूस कराने का है.”

उन्होंने आगे कहा कि ‘पूरे देश में सुरक्षा के साथ समझौता किया जा रहा है. लड़कियों के साथ छेड़छाड़/दुष्कर्म हो रहा है, हम किस तरह का समाज बना रहे हैं? हर नागरिक की सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है. अगर हम अपने देश और घर में सुरक्षित नहीं हैं, सड़कों पर सुरक्षित नहीं हैं, दिन या रात में सुरक्षित नहीं हैं तो हम कहां और किस तरह से सुरक्षित रह सकते हैं?’

कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने तो यहां तक कहा कि एसपीजी सुरक्षा हटाकर मुख्य विपक्षी दल के शीर्ष नेताओं के जीवन को खतरे में डाला गया है. वेणुगोपाल ने दावा किया कि एसपीजी सुरक्षा हटाकर मुख्य विपक्षी दल के शीर्ष नेताओं के जीवन को खतरे में डाला गया है.

वेणुगोपाल ने ट्वीट करके कहा, “तुच्छ राजनीतिक लाभ के लिए सरकार को किसी के जीवन को खतरे में नहीं डालना चाहिए. प्रियंका गांधी के आवास पर सुरक्षा में लगी सेंध से यह बात साबित होती है कि एसपीजी सुरक्षा हटाकर नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने हमारे नेताओं के जीवन को खतरे में डाल दिया है.”

गौरतलब है कि सोमवार को फोटो खिंचवाने के बहाने पांच आदमी प्रियंका गांधी के लोधी एस्टेट में स्थित बंगले में पहुंच गए. यह घटना गांधी परिवार के लिए एसपीजी सुरक्षा के हटने के बाद हुई.

ये भी पढ़ें-

‘गांधी परिवार को क्यों चाहिए SPG सुरक्षा,’ बिल पर चर्चा के दौरान बोले अमित शाह

PM मोदी की यह उदारता थी कि मेरे पिता को साथ काम करने का दिया प्रस्ताव: सुप्रिया सुले

बाबरी विध्वंस से पहले रथयात्रा के नाम पर नफरत का बीज बोया गया: अकबरुद्दीन ओवैसी