Independence Day: अटारी बॉर्डर पर करीब 5 महीने बाद हुई Beating Retreat Parade

14 अगस्त को भी सामान्य तरीके से झंडा उतारा गया था, लेकिन आज 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) के मौके पर भारत की तरफ से 'बीटिंग द रिट्रीट' परेड पूरी तरह से की गई.
Beating the Retreat parade, Independence Day: अटारी बॉर्डर पर करीब 5 महीने बाद हुई Beating Retreat Parade

कोरोना काल में करीब 5 महीने बाद अटारी बॉर्डर पर शनिवार को बीएसएफ की ओर से ‘बीटिंग द रिट्रीट’ परेड की गई. इससे पहले कोरोना के चलते 7 मार्च को पब्लिक गैदरिंग अटारी बॉर्डर के पैवेलियन पर बंद कर दी गई थी.

12 मार्च से सस्पेंड थी ‘बिटिंग द रिट्रीट’ 

इसके बाद 12 मार्च से पाकिस्तान के रेंजर्स के साथ होने वाली ‘बिटिंग द रिट्रीट’ को सस्पेंड कर दिया गया था. तब से लेकर अब तक सादे तरीके से झंडा उतारने की रस्म दोनों देशों की तरफ से की जा रही थी.

14 अगस्त को बॉर्डर पर क्या हुआ

14 अगस्त को भी सामान्य तरीके से झंडा उतारा गया था, लेकिन आज 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भारत की तरफ से ‘बीटिंग द रिट्रीट’ परेड पूरी तरह से की गई. हालांकि, पाक रेंजर्स इस ‘बीटिंग द रिट्रीट’ में शामिल नहीं हो रहे हैं.

बीते शुक्रवार को पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उनकी तरफ से ‘बीटिंग द रिट्रीट’ परेड की गई थी, लेकिन बीएसएफ ने सादे तरीके से भारतीय झंडा उतारा था. साथ ही पाकिस्तान की ओर से की गई ‘बीटिंग द रिट्रीट; में शामिल नहीं हुए थे.

‘देश की सेना देगी जवाब’

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से कहा कि LoC से लेकर LAC तक देश की संप्रभुता पर आंख उठाने वाले को देश की सेना ने उसी भाषा में जवाब दिया है. भारत की संप्रभुता का सम्मान हमारे लिए सर्वोच्च है.

74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से झंडा फहराने के बाद पीएम मोदी देश को संबोधित कर रहे थे. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “हमारे वीर जवान क्या कर सकते हैं, देश क्या कर सकता है, ये लद्दाख में दुनिया ने देखा है. हमारे पड़ोसी देशों के साथ, चाहे वो हमसे जमीन से जुड़े हों या समंदर से, अपने संबंधों को हम सुरक्षा, विकास और विश्वास की साझेदारी के साथ जोड़ रहे हैं.”

Related Posts