Beirut Explosion: लेबनान पर मंडरा रहा खाने-दवा की किल्लत का खतरा, भारत करेगा मदद

लेबनान की राजधानी बेरूत में अमोनियम नाइट्रेट से भयानक ब्लास्ट (beirut lebanon explosion) हुआ था. इसकी वजह से 137 लोगों की जान चली गई वहीं 5 हजार से ज्यादा जख्मी हैं. अब वहां अनाज और दवाओं की कमी का खतरा मंडरा रहा है, भारत मदद करेगा.
Lebanon beirut explosion, Beirut Explosion: लेबनान पर मंडरा रहा खाने-दवा की किल्लत का खतरा, भारत करेगा मदद
लेबनान ब्लास्ट

लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भयानक विस्फोट (Lebanon beirut explosion) के बाद जिंदगी अभी पटरी पर नहीं लौटी है. बेघर हुए करीब 3 लाख लोगों के पास अब दवाओं की कमी हो रही है. वहीं आगे खाने की किल्लत का भी खतरा मंडरा रहा है. ऐसे में भारत लेबनान की हर संभव मदद को तैयार है. आनेवाले दिनों में भारत दोनों चीजों की सप्लाई भेजने पर विचार कर रहा है.

बेरूत धमाके में गई थी 137 की जान
बता दें कि लेबनान के बेरूत में भयानक विस्फोट हुआ था. इसमें 137 लोगों की जान चली गई वहीं 5 हजार से ज्यादा जख्मी हैं. घायल होनेवालों में 5 भारतीय भी शामिल हैं. बताया गया कि यह विस्फोट 2,750 अमोनियम नाइट्रेट की वजह से हुआ था. इसे बेरूत बंदरगाह पर 2013 से जमा किया जा रहा था.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

लेबनान में मौजूद भारतीय राजदूत सुहेल अजाज खान और उनकी टीम इसका पूरा ख्याल रख रही है कि लेबनान को किसी चीज की कमी ना रहे. ऐसा इसलिए भी है कि वहां काफी भारतीय रहते हैं. लेबनान में करीब 4000 भारतीय रहते हैं. इनमें से ज्यादातर लोग वहां होटल, रेस्तरां और कंस्ट्रक्शन आदि का काम करते हैं.

धमाके चिंता की वजह इसलिए भी है क्योंकि इसने पोर्ट पर मौजूद बड़े स्टोर हाउसों को तबाह कर दिया है. वहां अनाज का एक स्टोर था जिसकी क्षमता 120,000 टन थी अब उसका स्टॉक या तो तबाह हो गया या फिर जल गया. यह पोर्ट इसलिए भी जरूरी है क्योंकि पूरे लेबनान का 60 प्रतिशत इंपोर्ट बेरूत के इसी पोर्ट से होता था.

6 हफ्ते का राशन मौजूद, दवाएं नहीं
बेरूत प्रशासन का कहना है कि लेबनान के पास फिलहाल इतना राशन है कि 6 हफ्ते निकल जाएंगे. चिंता की बात यह है कि पोर्ट के गोदाम जिसमें दवाइयां आदि स्टोर की गई थीं उन्हें भी नुकसान पहुंचा है. पेनकिलर, एंटिबायोटिक्स, ब्लड बैग्स की भी वहां कमी हो गई है. कैंसर, एचआईवी, सांस की बीमारी से संबंधित मरीज भी दवाएं ढूंढ-ढूंढकर परेशान हैं. भारत मामले पर नजर बनाए हुए है और लेबनान की तरफ से इशारा मिलते ही मदद भेज देगा.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts