नागरिकता कानून का विरोध कर रहे बेकाबू प्रदर्शनकारियों के सामने जब बेंगलुरु DCP ने गाया राष्ट्रगान…

प्रदर्शनकारी बेंगलुरु टाउन हॉल के बाहर इकट्ठे हो गए थे और विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, तब डीसीपी ने उनसे बात की. प्रदर्शनकारियों के साथ बात करते हुए, डीसीपी चेतन सिंह राठौर ने कहा कि अगर वे उन पर भरोसा करते हैं तो उनके साथ गाएं. इसके बाद उन्होंने राष्ट्रगान गाना शुरू कर दिया.
citizenship law, नागरिकता कानून का विरोध कर रहे बेकाबू प्रदर्शनकारियों के सामने जब बेंगलुरु DCP ने गाया राष्ट्रगान…

बेंगलुरु (सेंट्रल) के डीसीपी चेतन सिंह राठौड़ ने गुरुवार को शहर में नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए इकट्ठे हुए प्रदर्शनकारियों को बड़े ही आराम से शांत करा लिया. डीसीपी चेतन ने लोगों को शांत कराने के लिए उनके साथ राष्ट्रगान गाया.

दरअसल प्रदर्शनकारी बेंगलुरु टाउन हॉल के बाहर इकट्ठे हो गए थे और विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, तब डीसीपी ने उनसे बात की. प्रदर्शनकारियों के साथ बात करते हुए, डीसीपी चेतन सिंह राठौर ने कहा कि अगर वे उन पर भरोसा करते हैं तो उनके साथ गाएं. इसके बाद उन्होंने राष्ट्रगान गाना शुरू कर दिया. उनकी आवाज से आवाज मिलाते हुए प्रदर्शनकारी भी खड़े होकर राष्ट्रगान गाने लगे. राष्ट्रगान के बाद सभी प्रदर्शनकारी धरना स्थल से चले गए.

नागरिकता कानून के विरोध में देश भर में प्रदर्शन हो रहे हैं, कहीं-कहीं ये प्रदर्शन हिंसक रूप ले चुके हैं. कर्नाटक के बेंगलुरु में प्रदर्शनों के चलते स्थिति ऐसी हो गई कि कर्फ्यू लगाना पड़ गया. ऐसे में बेंगलुरु सेंट्रल इलाके में डीसीपी चेतन ने बड़े ही आराम से राष्ट्रगान के दम पर प्रदर्शनकारियों को शांत करा लिया.

मालूम हो कि गुरुवार को पुलिस फायरिंग में दो लोगों के मारे जाने के बाद नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध मंगलुरु में हिंसक हो गया. पुलिस ने इतिहासकार रामचंद्र गुहा समेत कई अन्य लोगों को बेंगलुरु और कर्नाटक के अन्य हिस्सों में हिरासत में ले लिया. इस बीच, मंगलुरु शहर और कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में 48 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं.

ये भी पढ़ें: जामिया यूनिवर्सिटी की वेबसाइट हैक, स्टूडेंट्स प्रोटेस्ट को लेकर हैकर ने लिखा ये मैसेज…

Related Posts