भजनपुरा हत्याकांड: भाई ही निकला कातिल, साढ़े तीन घंटे खेला खूनी खेल फिर बाहर जाकर पी शराब

शुक्रवार को भजनपुरा इलाके के C-ब्लॉक में एक मकान के अंदर एक ही परिवार के 5 लोगों के शव बरामद हुए थे. कई दिनों से घर बाहर से लॉक था. अचानक बदबू आने पर पड़ोसियों को शक हुआ.
Bhajanpura murder case relative killed whole family, भजनपुरा हत्याकांड: भाई ही निकला कातिल, साढ़े तीन घंटे खेला खूनी खेल फिर बाहर जाकर पी शराब

दिल्ली के भजनपुरा इलाके में एक ही परिवार के 5 लोगों की हत्या का मामला दिल्ली पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है. पुलिस के मुताबिक प्रभुनाथ चौधरी नाम के एक रिश्तेदार ने ही इस घटना को अंजाम दिया है. हत्या की वजह पैसों का लेन-देन बताया जा रहा है.

दरअसल शुक्रवार को भजनपुरा इलाके के C-ब्लॉक में एक मकान के अंदर एक ही परिवार के 5 लोगों के शव बरामद हुए थे. मकान में शंभूनाथ(43), पत्नी सुनीता (38), बेटी(16) और दो बेटे के साथ रहते थे. कई दिनों से घर बाहर से लॉक था. अचानक बदबू आने पर पड़ोसियों को शक हुआ. तो पुलिस को इसकी जानकारी दी गई.

इसके बाद पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि परिवार के एक रिश्तेदार ने ही पूरे परिवार की हत्या कर दी. पुलिस के मुताबिक प्रभु ने लोहे की रॉड से पांचों लोगों के सिर पर हमला किया जिससे सभी की मौत हो गई.

महज 30 हजार रुपये के लिए किया मर्डर

परिवार का मुखिया शम्भूनाथ ई-रिक्शा चलाता था. प्रभु रिश्ते में शम्भूनाथ का भाई लगता था और उससे 30 हजार रुपये उधार लिए थे. शम्भूनाथ ने कई बार अपने पैसे वापस मांगे, जिसको लेकर दोनों के बीच झगड़ा भी हुआ. इसके बाद प्रभु ने शम्भूनाथ सहित उसके पूरे परिवार की हत्या कर दी.

CCTV फुटेज से हुआ खुलासा

पुलिस ने छानबीन शुरू की तो पुलिस को पास में लगे CCTV फुटेज मिले, जिसमें प्रभु को शम्भूनाथ के घर का ताला लगाते हुए देखा गया. पुलिस ने प्रभु को हिरासत में लिया और पूछताछ के दौरान उसने हत्या की बात कबूल ली.

3 तारीख को हुई हत्या 

पुलिस ने बताया कि 3 तारीख को प्रभु ने शम्भू को पैसों को लेकर बात करने के लिए लक्ष्मी नगर बुलाया. जैसे ही शम्भू लक्ष्मी नगर के लिए निकला, इसी बीच प्रभु शम्भूनाथ के घर पहुंच गया. वहां शम्भू की पत्नी सुनीता अकेली थी, जिसके साथ प्रभु का पैसों को लेकर झगड़ा हुआ.

उसने पहले सुनीता का गला दबाया और लोहे की रॉड से वार किया. जैसे ही शम्भू की बेटी घर पहुंची, तो उसको ऊपर कमरे में बुलाकर हत्या कर दी. इसके बाद छोटे बेटे और फिर बड़े बेटे की भी हत्या कर दी.

पुलिस के मुताबिक प्रभु दोपहर को 3:30 बजे घर में घुसा और शाम 7:30 तक चार कत्ल किए. शाम को घर से निकल कर प्रभु ने शम्भू के साथ पड़ोस में एक जगह बैठकर शराब भी पी. फिर रात साढ़े 11 बजे घर ले जाकर शम्भू को भी मार डाला.

ये भी पढ़ें:

दिल्ली के भजनपुरा में एक ही परिवार के पांच लोगों के शव बरामद, पूरे इलाके में हड़कंप

Related Posts