कृषि बिलों पर आज देशभर में प्रदर्शन, पीएम मोदी ने किसानों से की यह खास अपील

कृषि बिलों के खिलाफ देशभर में किसान संगठनों ने आज विरोध प्रदर्शन (Bharat Bandh on Farm Bills) का ऐलान किया है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों (PM Modi on Bharat Bandh) से खास अपील की है.

PM-Modi

कृषि बिलों के खिलाफ देशभर में किसान संगठनों ने आज विरोध प्रदर्शन (Bharat Bandh on Farm Bills) का ऐलान किया है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों (PM Modi on Bharat Bandh) से खास अपील की है. उन्होंने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का एक इंटरव्यू शेयर किया है. इसमें कृषि विधेयकों पर चर्चा की गई है. मोदी ने किसानों से अपील की है कि किसान इस इंटरव्यू को जरूर देखें.

बता दें कि मानसून सत्र में संसद ने कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक-2020 और कृषक (सशक्तीकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 को मंजूरी दी. इसपर खासकर पंजाब और हरियाणा के किसान प्रदर्शन कर रहे हैं.

इतना ही नहीं पीएम मोदी ने दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर हुए कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भी खेती विधेयकों और श्रम कानूनों के बदलाव का जिक्र किया. खेती विधेयकों पर मोदी ने क्या कहा पढ़िए

  • किसानों को ऐसे कानूनों में उलझाकर रखा गया, जिसके कारण वो अपनी ही उपज को, अपने मन मुताबिक बेच भी नहीं सकता था. नतीजा ये हुआ कि उपज बढ़ने के बावजूद किसानों की आमदनी उतनी नहीं बढ़ी. हां, उन पर कर्ज जरूर बढ़ता गया.
  • अभी तक खनन, बिल्डिंग और कंस्ट्रक्शन वर्कर, स्वीपिंग और क्लीनिंग, मैन्यूफैक्चरिंग, ऐसे कुछ कामों से जुड़े देश के सिर्फ 30% श्रमिकों को ही न्यूनतम वेतन मिलता था. अब IT इंडस्ट्री, होटल, ढाबा, ट्रांसपोर्ट, घरेलू कामगार, असंगठित क्षेत्र के तमाम दूसरे श्रमिकों को भी इसके दायरे में लाया गया है.
  • अभी पूरे देश में न्यूनतम वेतन को लेकर करीब 10 हजार अलग-अलग दरें हैं. अब नए प्रावधानों से ये 200 के करीब रह जाएंगी. इसके अलावा अब ठेका मज़दूरी के स्थान पर एक फिक्स्ड टर्म के रोजगार का भी विकल्प दिया गया है.
  • जो पहले के श्रमिक कानून थे, वो देश की आधी आबादी, हमारी महिला श्रमशक्ति के लिए काफी नहीं थे. अब इन नए कानूनों से हमारी बहनों को, बेटियों को, समान मानदेय दिया गया है, उनकी ज्यादा भागीदारी को सुनिश्चित किया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तोमर के इंटरव्यू को शेयर करते हुए (PM Modi on Bharat Bandh) लिखा, ‘सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए निरंतर प्रयास किए, इसके बाद भी हाल ही में संसद में पारित कृषि विधेयक उनके लिए क्यों जरूरी हो गए थे, इस बारे में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने विस्तार से बताया है. इसे हर किसी को जरूर देखना और सुनना चाहिए.’

बता दें कि इससे पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो बार खेती बिलों पर सफाई दे चुके हैं. मोदी ने इन्हें जरूरी कदम बताते हुए कहा था कि किसानों को गुमराह किया जा रहा है.

पढ़ें – ‘मंडी की बेड़ियों से आजाद हुआ किसान’, कृषि बिल पर बोले नरेंद्र सिंह तोमर

बता दें कि पीएम मोदी ने जो नरेंद्र सिंह तोमरा का इंटरव्यू शेयर किया है वह उन्होंने गुरुवार को ही न्यूज एजेंसी ANI को दिया था. इसमें तोमर ने कहा कि MSP भारत सरकार की प्रशासकीय निर्णय होता है, इसलिए इसे बिल में नहीं रखा जाता. MSP थी और यह जारी रहेगी.

Related Posts