‘महात्‍मा गांधी को भारत रत्‍न दिया जाए’, याचिका पर CJI बोले- वह राष्‍ट्रपिता हैं, इन सब से बहुत ऊपर

CJI एसए बोबड़े ने याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया. उन्‍होंने कहा कि गांधी इन सब से परे हैं.

सुप्रीम कोर्ट के सामने शुक्रवार को एक याचिका में महात्‍मा गांधी के लिए ‘भारत रत्‍न’ की मांग की गई. अदालत से गुजारिश की गई थी कि केंद्र को निर्देश देकर गांधी को देश का सर्वोच्‍च सम्‍मान देने को कहा जाए. प्रधान न्‍यायाधीश (CJI) एसए बोबड़े ने याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया. उन्‍होंने कहा कि गांधी इन सब से परे हैं.

सुप्रीम कोर्ट वे कहा कि केंद्र को कोई निर्देश नहीं दे सकते. अदालत ने PIL याचिकाकर्ता से सरकार को इस बारे में लिखने को कहा. CJI ने कहा कि ‘महात्मा गांधी को किसी औपचारिक मान्यता की आवश्यकता नहीं है. वो राष्ट्रपिता हैं. वह इन मान्यताओं से बहुत परे हैं. लोग उन्‍हें बेहद सम्‍मान की नजर से देखते हैं.

गांधी को भारत रत्‍न देने की मांग को लेकर कई बार PILs दाखिल की जा चुकी हैं. सुप्रीम कोर्ट ने हर बार यही कहकर उन्‍हें खारिज किया कि गांधी को भारत रत्‍न देना उनके योगदान को कम करके आंकना होगा.

ये भी पढ़ें

जब महात्‍मा गांधी ने शर्ट-टोपी छोड़ अपना ली खादी की धोती और शॉल, पढ़ें रोचक किस्‍सा

महात्‍मा गांधी : धोती पहनकर बंदूक का सामना करने वाले असली सुपरहीरो