भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में गौतम नवलखा को मिली गिरफ्तारी से चार सप्ताह की राहत

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में नागरिक अधिकार कार्यकर्ता गौतम नवलखा को दी गई गिरफ्तारी से अंतरिम राहत को चार साप्ताह के लिए बढ़ा दिया है.
गौतम नवलखा, भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में गौतम नवलखा को मिली गिरफ्तारी से चार सप्ताह की राहत

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में नागरिक अधिकार कार्यकर्ता गौतम नवलखा को दी गई गिरफ्तारी से अंतरिम राहत को चार साप्ताह के लिए बढ़ा दिया है. हालांकि जस्टिस अरुण मिश्रा और दीपक गुप्ता की एक बैंच ने नवलखा को मामले में गिरफ्तारी से पहले जमानत लेने के लिए संबंधित अदालत से संपर्क करने को कहा.

जब महाराष्ट्र सरकार की ओर से पेश वकील ने नवलखा को और अंतरिम संरक्षण दिए जाने पर आपत्ति जताई, तो पीठ ने उनसे सवाल किया कि उन्होंने एक साल से उनसे पूछताछ क्यों नहीं की. सुप्रीम कोर्ट ने 4 अक्टूबर को नवलखा को दी गई गिरफ्तारी से अंतरिम राहत को 15 अक्टूबर तक बढ़ा दी थी.

गौतम नवलखा पर आरोप है कि उन्होंने भीमा-कोरेगांव में हिंसा भड़काई थी. इसी आरोप में पुणे की पुलिस ने नवलखा के साथ अन्य 9 कार्यकर्ताओं को भी गिरफ्तार किया था. ये गिरफ्तारियां एल्गार परिषद की 31 दिसंबर 2017 को हुई बैठक को लेकर की गईं. मालूम हो कि एल्गार परिषद की बैठक के एक दिन बाद ही भीमा कोरेगांव में हिंसा और दंगे शुरू हो गए थे.

ये भी पढ़ें: आवास खाली न करने पर काटे जाएंगे 27 पूर्व सांसदों के पानी, बिजली और गैस कनेक्शन

Related Posts