भूटान ने भारतीयों की फ्री एंट्री पर लगाई रोक, जुलाई से बदलेंगे नियम

भारत, बांग्लादेश और मालदीव के यात्रियों को भूटान सरकार को 1200 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से चार्ज देना होगा.
Bhutan free entry, भूटान ने भारतीयों की फ्री एंट्री पर लगाई रोक, जुलाई से बदलेंगे नियम

भारत के पड़ोसी देश भूटान ने भारतीयों की फ्री एंट्री पर रोक लगा दी है. भूटान सरकार ने अपने देश में भारत, बांग्लादेश और मालदीव की फ्री एंट्री को बंद करने का फैसला किया है. तीनों देशों के यात्रियों को भूटान में रुकने के लिए अब सस्टेनेबल डिवेलपमेंट फी देनी होगी.

सस्टेनेबल डिवेलपमेंट फी के हिसाब से भारत, बांग्लादेश और मालदीव के यात्रियों को 1200 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से भूटान सरकार को देने होंगे. नया नियम जुलाई 2020 से लागू होगा. मंगलवार को भूटान की नेशनल असेंबली ने ‘टूरिज्म लेवी एंड एग्जेम्पशन बिल ऑफ भूटान, 2020’ नाम से नए फैसले पर मुहर लगाई है.

भारतीयों के लिए टूरिज्म लेवी एंड एग्जेम्पशन बिल ऑफ भूटान, 2020 से जुड़ी खास बातें

  • 5 साल से कम उम्र के बच्चों पर कोई फी रूल लागू नहीं होगा.
  • 6-12 साल के बच्चों की एंट्री फी आधी यानि 600 रुपये होगी.
  • नए नियम जुलाई 2020 से लागू होंगे.
  • भारत, बांग्लादेश और मालदीव के यात्रियों को 1200 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से देने होंगे.
  • भूटान के पूर्वी हिस्से के 11 जिलों में एंट्री फी नहीं देनी होगी.

हालांकि दूसरे देशों पर लगाए जा रहे यात्री चार्ज के मुकाबले भारत, बांग्लादेश और मालदीव के लोगों पर लगाया गया चार्ज काफी कम रखा गया है. भूटान सरकार ने बाकी देश के लोगों के लिए सस्टेनेबल डिवेलपमेंट फी 17,000 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से रखी है.

बता दें भूटान की दीवारों पर खूबसूरत पेंटिंग्स, थांगका, मूर्तियां और सस्ते होटल-खाना पीना टूरिस्ट का ध्यान खींचते हैं. यहां घूमने के लिए क्लॉक टावर स्क्वायर, थिम्फु चोर्टन, बुद्धा डोरडेनमा, टैंगो बौद्ध इंस्टिट्यूट, नेशनल लाइब्रेरी ऑफ भूटान, दोचुला पास और रॉयल बोटैनिकल गार्डन जैसी शानदार जगहें हैं.

Related Posts