देश की 65 सीटों पर होना है उपचुनाव, आयोग आज बताएगा तारीखें!

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में 8 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव को भाजपा ने प्रतिष्ठा का सवाल बनाकर तैयारियां जोरों पर शुरू कर दी है. सरकार और संगठन की ओर से रणनीति बनाकर किला फतेह करने की कोशिश होने लगी है.

भारतीय निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) शुक्रवार को दोपहर साढ़े 12 बजे बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) का ऐलान कर सकता है. चुनाव आयोग की प्रवक्ता शेफाली शरण ने बताया कि आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस बिहार विधानसभा चुनाव के संबंध में शुक्रवार को आयोजित हो रही है. माना जा रहा है कि चुनाव कई चरणों में कराए जाएंगे. आयोग की ओर से कहा गया कि बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही देश की 65 सीटों पर उपचुनाव भी कराए जाएंगे. इनमें एक सीट लोकसभा की और 64 विधानसभा की सीटें शामिल हैं, जिन पर उपचुनाव होने हैं.

चुनाव आयोग की ओर से कहा गया है कि बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान उचित समय पर कर दिया जाएगा. साथ ही जिन सीटों पर उपचुनाव होना है उनकी भी तारीखों का ऐलान जल्द होगा. चुनाव आयोग ने ये भी कहा कि 29 नवंबर से पहले बिहार विधानसभा चुनाव संपन्न करा लिए जाएंगे.

बिहार चुनाव की तारीखों का आज हो सकता है ऐलान, 12.30 बजे आयोग की कॉन्फ्रेंस


मध्य प्रदेश में 27 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव

मालूम हो कि मध्य प्रदेश में 27 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव होने हैं. प्रदेश में 10 मार्च को कांग्रेस के 22 विधायक पार्टी से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए थे. इससे कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी. इसके बाद 12 जुलाई को कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी और 17 जुलाई को कांग्रेस विधायक सुमित्रा देवी कसडेकर ने भी पार्टी छोड़ भाजपा ज्वाइन कर ली. 23 जुलाई को मांधाता विधायक भी कांग्रेस छोड़कर चले गए. इस तरह अभी तक 25 विधायकों ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया है. वहीं दो विधायकों का निधन हो गया है.

उत्तर प्रदेश में 8 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव

उत्तर प्रदेश में 8 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव को भाजपा ने प्रतिष्ठा का सवाल बनाकर तैयारियां जोरों पर शुरू कर दी है. सरकार और संगठन की ओर से रणनीति बनाकर किला फतेह करने की कोशिश होने लगी है. जमीनी नब्ज टटोलने के लिए प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और सरकार के दोनों उपमुख्यमंत्री खुद मैदान पर उतरे हैं.

राजनीतिक जानकार राजीव श्रीवास्तव का कहना है कि जिन 8 सीटों पर उपचुनाव होने हैं. उनमें से 6 सीटें भाजपा के पास थीं. भाजपा सत्तारूढ़ दल है, ऐसे में उसके लिए यह चुनाव प्रतिष्ठा का विषय है. भाजपा चाहेगी कि 8 सीटें न जीत पाए तो कम से कम 6 सीटों पर जीत बरकरार रखे.

चुनाव कराने को लेकर आयोग की गाइडलाइंस जारी

वहीं, कोरोना के कारण सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने के लिए चुनाव आयोग विज्ञान भवन के हॉल नंबर पांच में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित करेगा. सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर सिर्फ पीआईबी एक्रिडेटेड पत्रकारों को ही एंट्री मिलेगी. कोरोना काल में विधानसभा चुनाव कराने को लेकर आयोग पहले ही गाइडलाइंस जारी कर चुका है. हर मतदान केंद्र पर सिर्फ एक हजार मतदाता ही वोट देंगे. मतदान केंद्रों पर सैनिटाइजर से लेकर सभी तरह की व्यवस्थाएं रहेंगी.

Bihar Election 2020: पिछले चुनाव में किसको मिली कितनी सीट, क्या रहा वोट प्रतिशत

Related Posts