पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में पाक को न्योता नहीं, इन पड़ोसी देशों को भेजा गया निमंत्रण

बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना इस समारोह में शामिल नहीं हो पाएंगी. बताया जा रहा है कि वो तीन देशों के दौरे पर निकल रही हैं.
पीएम मोदी शपथ ग्रहण, पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में पाक को न्योता नहीं, इन पड़ोसी देशों को भेजा गया निमंत्रण

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता पर दोबारा वापसी करने जा रही एनडीए के शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां शुरू हो चुकी है. 30 मई को शाम सात बजे राष्ट्रपति भवन में पीएम मोदी शपथ लेंगे. पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने वाले अतिथियों की लिस्ट आ गई है.
इसके अलावा, टीआरएस चीफ केसीआर और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के चीफ वाई.एस जगनमोहन रेड्डी भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे.

पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों को आमंत्रित किया गया है. बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना इस समारोह में शामिल नहीं हो पाएंगी. बताया जा रहा है कि शेख हसीना तीन देशों के दौरे पर निकल रही हैं. इस कारण वो इस समारोह में शामिल नहीं हो पाएंगी.

सरकारी प्रवक्ता ने बताया, “भारत सरकार ने शपथ ग्रहण समारोह के लिए बिम्सटेक सदस्य देशों के नेताओं को आमंत्रित किया है. यह सरकार की ‘नेबरहुड फर्स्ट’ नीति पर ध्यान केंद्रित करने के अनुरूप है. किर्गिज़ गणराज्य के राष्ट्रपति, जो शंघाई के वर्तमान अध्यक्ष भी हैं और मॉरीशस के प्रधानमंत्री, जो इस वर्ष के प्रवासी भारतीय दिवस में मुख्य अतिथि थे उनको भी आमंत्रित किया गया है.

ये देश होंगे शामिल
पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में भूटान नेपाल बांग्लादेश श्रीलंका म्यांमार थाईलैंड के राष्ट्राध्यक्षों को बुलाया भेजा गया है. इन सभी देशों के राष्ट्राध्यक्ष पीएम के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे. ये सभी देश बिम्सटेक में शामिल हैं.

30 मई को लेंगे शपथ
बता दें कि नरेंद्र मोदी इस बार 30 मई को शाम 7 बजे राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. उनके साथ कई कैबिनेट मंत्री भी शपथ लेंगे. हालांकि, मंत्रिमंडल में कौन शामिल होगा, अभी इसका खुलासा नहीं हुआ है. नरेंद्र मोदी ने शनिवार को राष्ट्रपति भवन जा सरकार बनाने का दावा पेश किया था.

2014 में चौंका दिया था 
2014 में पीएम नरेंद्र मोदी ने 26 मई 2014 को शपथ ली थी और कई ऐसे मेहमानों को बुलाया था. जिससे हर कोई हैरान था. तब उनके शपथ ग्रहण में सार्क देशों के प्रमुख भी आए थे, जिसमें पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ भी शामिल थे. हालांकि, अभी तक इस बार के मेहमानों की लिस्ट सामने नहीं आई है. लेकिन कहा जा रहा है कि इस बार का शपथ ग्रहण पहले से भी भव्य होने जा रहा है.

Related Posts