‘मेरे बर्थडे पर कभी केक लाना नहीं भूलती थीं सुषमा’, अपनी टीम मेंबर को खोकर भावुक हुए आडवाणी

BJP के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने सुषमा स्वराज की मौजूदगी के कई मौकों को याद किया.

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी ने पार्टी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज को अपने करीबी सहयोगियों में से एक बताते हुए उनके निधन पर बुधवार को शोक व्यक्त किया. उन्होंने याद किया कि जब वह अस्सी के दशक में भाजपा के अध्यक्ष थे, तब वह एक होनहार युवा कार्यकर्ता थीं, जिन्हें खुद उन्होंने टीम में शामिल किया था.

‘असामयिक निधन से बेहद दुखी’

आडवाणी ने एक बयान में कहा, “और इतने सालों में, वह हमारी पार्टी के सबसे लोकप्रिय और प्रमुख नेताओं में से एक बन गईं. वास्तव में वह महिला नेताओं के लिए एक रोल मॉडल बन गईं. सबसे करीबी सहयोगियों में से एक सुषमा स्वराज के असामयिक निधन से बेहद दुखी हैं.

‘उनकी क्षमता पर चकित हो जाता था’

आडवाणी ने पूर्व विदेश मंत्री को एक शानदार वक्ता कहा. उन्होंने कहा, मैं अक्सर घटनाओं, कार्यक्रमों को याद करने और उन्हें अत्यंत स्पष्टता और वाक्पटुता के साथ प्रस्तुत करने की उनकी क्षमता पर चकित हो जाता था.

‘अपने स्वभाव से सभी के दिलों को छू लिया’

आडवाणी ने कहा कि वह एक अच्छी इंसान भी थीं और उन्होंने अपनी गर्मजोशी और दयालु स्वभाव से सभी के दिलों को छू लिया. मुझे एक भी ऐसा साल याद नहीं है, जब वह मेरे जन्मदिन पर मेरे लिए मेरा पसंदीदा चॉकलेट केक लाने से चूक गई हों.

‘मेरे लिए अपूरणीय क्षति’

उन्होंने संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि राष्ट्र ने एक असाधारण नेता खो दिया है. मेरे लिए यह एक अपूरणीय क्षति है और मैं सुषमा जी की मौजूदगी को बहुत याद करूंगा. उनकी आत्मा को शांति मिले.”

ये भी पढ़ें-

VIDEO: जब सुषमा स्वराज ने PM मोदी से कहा- आप ऐसे नहीं देंगे भाषण

भारत की महिला शक्ति को दिखाती सुषमा स्वराज की ये तस्वीर, जिसे दुनिया ने किया सलाम

सुषमा स्‍वराज ने जिस UNGA में जमाई थी भारत की धाक, वह भी हुआ उनका मुरीद