कभी ‘निशंक’ को बताया ‘प्रवासी पक्षी’ तो कभी MLA को दी कुश्ती की चुनौती, ऐसे हैं विधायक चैंपियन

ये कोई पहला मामला नहीं है जब प्रणव सिंह का कोई वीडियो वायरल हुआ है या उनकी दबंगई देखने में आई है.


नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन की दबंगई मीडिया की सुर्खियों में है. प्रवण सिंह के कारनामे की वायरल वीडियो पर हर ओर चर्चा हो रही है. विधायक जी वायरल वीडियो में हाथों में बंदूक लिए डांस करते नजर आ रहे हैं. एक पिस्टल मुंह में दबाकर वो जाम लगाते भी दिख रहे हैं. साथ ही वो उत्तराखंड के बारे में आपत्तिजनक शब्द भी बोल रहे हैं.

ये कोई पहला मामला नहीं है जब प्रणव सिंह का कोई वीडियो वायरल हुआ है या उनकी दबंगई देखने में आई है. इससे पहले भी वो कई बार इस तरह की करतूतों में फंस चुके हैं. कुछ लोग ऐसा भी कहते हैं कि मीडिया की सुर्खियों में बने रहने के लिए वो ऐसा करते हैं. आइए, प्रणव सिंह के राजनीतिक करियर पर एक नजर डालते हैं.

कांग्रेस छोड़ थामा BJP का दामन
प्रणव सिंह पहले कांग्रेस में हुआ करते थे. उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा चुनाव भी जीता था. हालांकि, 2016 में वह उन नौ कांग्रेस विधायकों में शामिल थे, जिन्होंने हरीश रावत के खिलाफ बगावत की थी और भाजपा में शामिल हुए थे. बाद में, विधानसभा के अध्यक्ष ने सभी नौ विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया था.

BJP  ने किया चैंपियन को संस्पेंड
भाजपा ने हाल ही में खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन को अनुशासनहीनता के आरोप में तीन महीने के लिए पार्टी से निलंबित कर दिया था. प्रणव सिंह का निलंबन भाजपा की अनुशासन समिति द्वारा तैयार की गई प्रारंभिक रिपोर्ट के बाद आया, जिसमें उन्हें घोर अनुशासनहीनता का दोषी पाया गया था. फिलहाल, वो निलंबन पर ही हैं.

दरअसल, कुछ दिनों पहले ही प्रणव सिंह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. वीडियो में वो एक पत्रकार को जान से मारने की धमकी देते नजर आए थे. पत्रकार ने इसे लेकर दिल्ली के चाणक्यपुरी थाने में प्रणव सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. इसके बाद भाजपा आलाकमान की ओर से भी एक्शन लिया गया था.

BJP MLA को दी कुश्ती की चुनौती
कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन और झबरेड़ा से विधायक देसराज कर्णवाल के बीच इसी साल अप्रैल महीने में जमकर कहासुनी हुई थी. पहलवान होने का दावा करने वाले चैंपियन ने कर्णवाल को डरपोक और अखाड़े में उनके खिलाफ कुश्ती का मुकाबला करने में असमर्थ बताया था. यहां तक कि चैंपियन ने इस महीने की शुरुआत में कर्णवाल को रुड़की में कुश्ती के लिए चुनौती भी दी.

कर्णवाल ने हालांकि कुश्ती नहीं लड़ी जिसके बाद चैंपियन ने खुद को विजेता घोषित कर दिया था. चैंपियन ने घोषणा की, “वह (कर्णवाल) मेरे थप्पड़ का सामना भी नहीं कर सकते.” वहीं दूसरी ओर, कर्णवाल ने आरोप लगाया था कि चैंपियन मानसिक समस्या ग्रस्त हैं और उन्हें पागलखाने में भेजा जाना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि चैंपियन के पास जो डिग्री हैं वे फर्जी हैं.

निशंक को बताया ‘प्रवासी पक्षी’ 
प्रणव सिंह ने इससे पहले मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के खिलाफ भी मोर्चा खोला था. उन्होंने निशंक को ‘प्रवासी पक्षी’ बताया था. सांसद निशंक के विकास कार्यों पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा था कि पांच साल तक वह जनता के बीच में नहीं रहे, अब एन वक्त पर शिलान्यास कर वह विकास का झूठा दावा कर रहे हैं.

प्रणव सिहं ने अपनी पत्नी रानी देवयानी सिंह के लिए टिकट की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि उनकी पत्नी लगातार काम कर रही है और सुशिक्षित है. उन्होंने कहा कि हरिद्वार जिले से जो भी सांसद बने यह स्थानीय नहीं है. इस बार स्थानीय प्रत्याशी की मांग की जा रही है. इसलिए उनकी प्रबल दावेदारी है.

ये भी पढ़ें-

BJP विधायक ने हाथ में जाम लेकर किया तमंचे पर डिस्को, Video वायरल

BJP से सस्पेंड हो चुके हैं तमंचे पर डिस्को करने वाले MLA चैंपियन, इस वजह से लिया गया था एक्शन

LIVE: मुंबई के जिस होटल में रुके हैं बागी विधायक, उसने कैंसिल कर दी डीके शिवकुमार की बुकिंग