कपिल मिश्रा के खिलाफ NDA से उठी आवाज, पासवान ने कहा – ऐसे नेताओं पर रोक लगाए BJP

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि जिस तरह अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा का बयान आया उससे सामाजिक समरसता बिगड़ती है. ऐसे नेताओं पर भाजपा को रोक लगानी चाहिए.
chirag paswan, Jharkhand Elections 2019

दिल्ली में भड़की हिंसा पर अब एनडीए में भी आवाज उठने लगी है. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के घटक दल लोजपा ने दिल्ली हिंसा पर गहरी निराशा जताई है. लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने साफ-साफ कहा है कि दिल्ली हिंसा पर तुरंत रोक लगानी चाहिए. साथ ही चिराग ने कहा कि भाजपा नेताओं के भड़काऊ बयान पर भी रोक लगनी चाहिए. दिल्ली हिंसा पर मंगलवार देर शाम दिल्ली में प्रतिक्रिया देते हुए चिराग पासवान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के शीर्ष नेतृत्व को कपिल मिश्रा पर तुरन्त कार्रवाई करनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि जिस तरह अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा का बयान आया उससे सामाजिक समरसता बिगड़ती है. ऐसे नेताओं पर भाजपा को रोक लगानी चाहिए. चिराग पासवान ने कहा कि इससे पहले अनुराग ठाकुर ने कहा ‘गोली मारो’, तो इस तरह की घटना हुई. इसलिए मैं शीर्ष नेतृत्व से आग्रह करूंगा कि इस तरह के बयान को रोके.

चिराग पासवान ने कहा- ‘मैं इस बात को लगातार कह रहा हूं कि दिल्ली चुनाव हारने की वजह भी ऐसे नेताओं के बयान आ रहे है. जिस तरीके से कपिल मिश्रा पुलिस की मौजूदगी में पुलिस को ही धमकी दे कर गए कि ट्रंप के जाने के बाद हम पुलिस की भी नहीं सुनेंगे. इस तरह के भड़काऊ बयान जनता में न सिर्फ आक्रोश पैदा करते हैं बल्कि उनको उकसाने का भी काम करता है. हमने हमेशा देखा कि जब भी इस तरह के बयान आए हैं दिल्ली में अप्रिय घटना घटी है’.

बता दें कि चिराग पासवान से पहले भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने कहा था कि इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि कौन व्यक्ति है. गंभीर ने कहा कि जिसने भड़काऊ भाषण दिया है, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए. इस दौरान गंभीर ने हिंसा करने वाले लोगों पर भी जमकर भड़ास निकाली थी.

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें – 

LIVE Delhi violence: गोकुलपुरी में फिर आगजनी, उपद्रवियों ने स्क्रैप मार्केट में लगाई आग

दिल्‍ली हिंसा पर बोले हिमाचल सीएम – भारत में भारत माता की जय करने वाला रहेगा

Delhi Violence: आधी रात को HC में हुई सुनवाई, कोर्ट का आदेश- ‘एंबुलेंस और घायलों को मिले पुलिस प्रोटेक्शन’

Related Posts