बीजेपी संसदीय दल के हिंसाग्रस्त भाटपाड़ा में पहुंचते ही फिर बवाल, भीड़ पर लाठीचार्ज

तृणमूल कांग्रेस विधायक अर्जुन सिंह के बीजेपी में जाने और बैरकपुर से लोकसभा चुनाव जीतने के बाद से यह संघर्ष और तेज हो गया है.

BJP team to visit violence-hit Bhatpara, submit report to Amit Shah

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना जिले के हिंसा प्रभावित भाटपाड़ा का दौरा किया.

बीजेपी प्रतिनिधिमंडल के दौरे से पहले सड़कों पर भीड़ इकट्ठा हो गई थी. जिन्हें हटाने के लिए पश्चिम बंगाल की पुलिस ने लोगों पर लाठी चार्ज किया.

भाटपाड़ा में गुरुवार को तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के साथ कथित रूप से जुड़े दो गुटों में हुये संघर्ष में दो लोगों की मौत हो गई थी और पांच घायल हो गए थे.

प्रतिनिधिमंडल में सांसद एसएस अहलूवालिया, विष्णु दयाल राम और सत्यपाल सिंह शामिल हैं. वे शनिवार सुबह दिल्ली से भाटपाड़ा पहुंचें.

प्रतिनिधिमंडल ने गांव में गुरुवार को हुई झड़प में मारे गए दोनों मृतकों के घरों का दौरा किया.

प्रतिनिधिमंडल अपने दौरे की रिपोर्ट पार्टी मुख्यालय को देगा.

राज्य के कांग्रेस और वाम मोर्चा के विधायकों का एक संयुक्त प्रतिनिधिमंडल,कांग्रेस नेता अब्दुल मन्नान और मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेता सुजन चक्रवर्ती के नेतृत्व में क्षेत्र का दौरा करेगा.

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के भाटपाड़ा में कड़ी सुरक्षा और पुलिस निगरानी के बीच हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं.

शनिवार सुबह कुछ दुकानें और सरकारी कार्यालय खुले और निजी वाहनों को सड़कों पर देखा गया. हालांकि, बैरकपुर औद्योगिक क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले इलाके में दो दिनों की हिंसा के बाद दहशत और आशंका के माहौल चलते कई स्कूल, कारखाने और निजी संस्थान बंद रहे.

बाहरी लोगों को क्षेत्र में प्रवेश से रोकने के लिए घोषपारा और कल्याणी हाईवे के पास महत्वपूर्ण क्रॉसिंग पर कई पुलिस पिकेट बनाए गए हैं.

स्थानीय पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) के जवानों ने शनिवार सुबह भाटपाड़ा और उसके आसपास रूट मार्च किया.

23 मई को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद से बैरकपुर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में तनावपूर्ण माहौल है.

भाटपाड़ा से तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के पूर्व विधायक अर्जुन सिंह, जो चुनाव से ठीक पहले बीजेपी में शामिल हो गए, उन्होंने बैरकपुर लोकसभा सीट जीती, जबकि उनके बेटे पवन सिंह ने भाटपाड़ा से विधानसभा उपचुनाव जीता था.

क्षेत्र में एक ताजा घटनाक्रम में गुरुवार को पुलिस गोलीबारी में दो लोगों की मौत हो गई और कम से कम पांच अन्य घायल हो गए जिससे प्रशासन को प्रभावित क्षेत्रों में निषेधाज्ञा लागू करनी पड़ी.

पुलिस की बर्बरता के खिलाफ, स्थानीय सांसद अर्जुन सिंह के नेतृत्व में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को बैरकपुर पुलिस आयुक्तालय के बाहर प्रदर्शन किया था.

Related Posts