IMF का ग्राफ शेयर कर राहुल गांधी ने केंद्र को घेरा, कहा-बांग्लादेश भारत से आगे निकलने को तैयार

आईएमएफ (IMF) के ग्राफ को शेयर करते हुए राहुल गांधी ने कहा है कि भारत और बांग्लादेश की 2020 की जीडीपी 1888 डॉलर होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि आने वाले समय में बांग्लादेश की जीडीपी भारत से आगे निकल सकती है.

Rahul Gandhi
राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों और मजदूरों की आवाज को दबाने का काम कर रही है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की जीडीपी (GDP) को लेकर आलोचना की. राहुल गांधी ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के भारत की प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की तुलना पड़ोसी देश बांग्लादेश से करने को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश की.

राहुल ने आईएमएफ के ग्राफ को शेयर करते हुए कहा है कि भारत और बांग्लादेश की 2020 की जीडीपी 1888 डॉलर होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि आने वाले समय में बांग्लादेश की जीडीपी भारत से आगे निकल सकती है.

क्या कहता है IMF का ग्राफ?

आईएमएफ का ग्राफ बताता है कि भारत और बांग्लादेश दोनों की प्रति व्यक्ति जीडीपी 2020 के लिए 1,888 अमेरिकी डॉलर होगी. राहुल गांधी ने अपने ट्वीट के जरिए भाजपा के राजनीतिक एजेंडे को भारत की जीडीपी में गिरावट को लेकर जिम्मेदार ठहराया.

ये भी पढ़ें-हाथरस: जातीय भेदभाव और छुआछूत पर बोले राहुल, कहा- ‘उठानी होगी अन्‍याय के खिलाफ आवाज’

राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार ने अपने पिछले 6 साल के कार्यकाल में बीजेपी के एजेंडे को ही लागू करने की कोशिश की है. राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी का नफरत भरा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद 6 साल की ठोस उपलब्धि है. बांग्लादेश भारत से आगे निकलने के लिए तैयार है.

इससे पहले कुछ ऐसे पीएम पर किया था हमला

हाल ही में कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सेना के जवानों का एक वीडियो शेयर करते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने शनिवार को वीडियो शेयर कर लिखा, ‘हमारे जवानों को नॉन-बुलेट प्रूफ़ ट्रकों में शहीद होने भेजा जा रहा है और PM के लिए 8400 करोड़ के हवाई जहाज़! क्या यह न्याय है?’

इससे पहले 8 अक्टूबर को राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा था, ”PM ने अपने लिए 8400 करोड़ का हवाई जहाज़ ख़रीदा. इतने में सियाचिन-लद्दाख़ सीमा पे तैनात हमारे जवानों के लिए कितना कुछ ख़रीदा जा सकता था. गरम कपड़े- 30,00,000, जैकेट और दस्ताने- 60,00,000, जूते- 67,20,000, ऑक्सीजन सिलेंडर: 16,80,000, प्रधानमंत्री को सिर्फ़ अपनी इमेज की चिंता है सैनिकों की नहीं.”

ये भी पढ़ें-महिला सुरक्षा पर राहुल गांधी ने लॉन्च किया कैंपेन, हाथरस कांड को लेकर यूपी सरकार पर हमला

Related Posts