आंध्र प्रदेश के ईस्ट गोदावरी में पलटी नांव, आठ की मौत, 30 से ज्यादा लापता

सुरक्षित बाहर निकाले गए एक शख्स ने बताया कि नाव में 60 के आसपास लोग सवार थे.

आंध्र प्रदेश के ईस्ट गोदावरी जिले में बड़ा हादसा हुआ है. ईस्ट गोदावरी के देवीपाटन में नाव पलट गई है. नाव में 50 से ज्यादा लोग सवार थे. ये लोग पर्यटक बताए जा रहे हैं. रेस्क्यू टीम घटनास्थल पर तैनात हैं. आंध्र प्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया है कि पूर्वी गोदावरी जिले के देवीपाटनम में गोदावरी नदी में शनिवार तड़के एक यात्री नाव के पलट जाने से 11 लोगों की जान चली गई.

हैदराबाद के उप्पल से एक परिवार से पांच लोग उसी नाव में पर्यटन यात्रा के लिए निकले थे. उनमें से एक व्यक्ति जो सुरक्षित बाहर निकला है, उनके परिवार से उनके पत्नी समेत चार लोग अभी भी लापता हैं. जो सुरक्षित बाहर निकला है, उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है.

उनका कहना है कि ‘हम सभी लाइफ जैकेट पहने हुए थे, उस समय नाव में नाच गाने का प्रोग्राम चल रहा था, इसीलिए हम जैकेट उतार दिए थे, खाना खाने के बाद फिर पहने वाले थे, मैं जैकेट पहन ही रहा था कि उसी वक्त अचानक ये हादसा हो गया. मेरे पत्नी समेत चार लोग लापता हैं, हादसे के वक्त नाव में स्टाफ को मिलाकर करीब 80 लोग सवार थे.’

सुरक्षित बाहर निकाले गए एक शख्स ने बताया कि नाव में 60 के आसपास लोग सवार थे. शुरुआती तौर पर माना जा रहा है कि लापरवाही के चलते ये हादसा हुआ है. घटना को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है. हादसे को लेकर लोग प्रशासन पर सवाल भी खड़े कर रहे हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, हादसे के वक्त और भी कुछ नावें चल रही थीं. हादसा होते ही आसपास की नावों के नाविक मदद के लिए आगे आए. उन्होंने पानी में डूब रहे की लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला. इसके समय बाद ही रेस्क्यू टीम को बुला लिया गया.

सरकार ने लोगों को ढूंढने के लिए ONGC का हेलिकॉप्टर की मदद लेने का निर्देश दिया. विशाखापत्तनम और गुंटूर से NDRF की दो टीमों को राहत और बचाव अभियान में मदद के लिए भेजा गया है, हर टीम में 30 सदस्य हैं. जलस्तर अधिक होने के कारण बचाव अभियान में कठिनाई आ रही है.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी में नौका डूबने से बेहद दुखी हूं. मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवार के साथ हैं.’

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने अधिकारियों से बात कर राहत और बचाव अभियान का जायजा लिया. जगनमोहन रेड्डी ने राज्य के पर्यटन मंत्री और जिले के सभी मंत्रियों को घटना स्थल पर जाकर बचाव कार्यों की निगरानी करने का आदेश दिया है. उन्होंने अधिकारियों को इस क्षेत्र में सभी नौका विहार सेवाओं को तत्काल निलंबित करने का भी निर्देश दिया.

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजन के लिए 10-10 लाख रु. मुआवजे का ऐलान किया है. वहीं तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रु. मुआवजा का एलान किया है.

ये भी पढ़ें-

खतरे के निशान के पार पहुंची गंगा, बलिया में नदी में समा गई पानी की टंकी, देखिए Video

ED की हिरासत में क्यों जाना चाहते हैं चिदंबरम, जानिए क्या है पुलिस कस्टडी और जुडिशल कस्टडी में अंतर

Indian Railways: अब पार्सल ऑफिस के नहीं काटने पड़ेंगे चक्कर, एप से बुक होगा ई-लगेज