पाकिस्तान से हथियार-ड्रग्स तस्करी की साजिश को बीएसएफ ने किया नाकाम, 62 किलो हेरोइन बरामद

बीएसएफ (BSF) ने मुस्तैदी दिखाते हुए घुसपैठियों पर गोलीबारी की जिससे वो सामान फेंककर भाग गए. तलाशी के दौरान भारतीय क्षेत्र से हेरोइन की एक-एक किलो की 62 पैकेट, दो पिस्तोलें और इनकी चार मैगजीन्स बरामद की गईं.

  • Ankit Bhat
  • Publish Date - 1:48 pm, Sun, 20 September 20

सीमा सुरक्षा बल (BSF) को एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर (International Border) पर एक बड़ी कामयाबी मिली है. दरअसल, 19- 20 की बीती रात को पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ से अरनिया सेक्टर में नशीले पदार्थ और हथियार बेचने की बड़ी साजिश को बीएसएफ ने विफल कर दिया. बीएसएफ जवानों ने 62 किलोग्राम हेरोइन जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों की कीमत है, साथ ही 2 चाइनीज पिस्तौल, 3 मैगजीन और 100 राउंड बुलेट बरामद किया है.

जम्मू-कश्मीर में नार्को टेररिज्म और आतंकियों तक हथियार भेजने के लिए पाकिस्तान पार से अरनिया सेक्टर में बॉर्डर के पास यह कंसाइनमेंट भेजी जा रही थी. इसे वक्त रहते बीएसएफ जवानों ने अपने कब्जे में ले लिया. जानकारी के अनुसार, अरनिया की अग्रिम चौकियों पर तैनात बीएसएफ ने पाकिस्तान की ओर से आतंकवादियों के दल को नाइट विजन पर इस ओर आते देखा.

सामान फेंककर भागे घुसपैठिए

बीएसएफ ने मुस्तैदी दिखाते हुए घुसपैठियों पर गोलीबारी की जिससे वो सामान फेंककर भाग गए. तलाशी के दौरान भारतीय क्षेत्र से हेरोइन की एक-एक किलो की 62 पैकेट, दो पिस्तोलें और इनकी चार मैगजीन्स बरामद की गईं.

इससे पहले ड्रोन से हथियार फेंकने और सीमा पर सुरंग की साजिश भी बीएसएफ नाकाम कर चुकी है. बीएसएफ के जम्मू रेंज आईजी एनएस जम्वाल का कहना है कि यह हमारी मुस्तैदी ही है जिसकी वजह से एक बड़ी कामयाबी फिर अंतरराष्ट्रीय सीमा पर नाकाम की गई है.

अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पूरी तरीके से अलर्ट

बीएसएफ के आईजी का यह भी कहना है कि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पूरी तरीके से अलर्ट है. दूसरी तरफ, ड्रोन भी एक बड़ी चुनौती के रूप में निकलकर सामने आए हैं जिसे लेकर बीएसएफ पूरी तरह अलर्ट हो गई है. यही वजह है कि हाल ही में बीएसएफ को हीरानगर सेक्टर में एक बड़ी कामयाबी मिली थी.

आईजी का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय सीमा के उस पार आतंकियों के कई लॉन्चिंग पैड्स एक्टिव हैं. यही वजह है कि लगातार पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर यह हरकत कर रहा है और हम आज इस हरकत के बाद पाकिस्तान को प्रोटेस्ट नोट सौंप रहे हैं.