पंजाब के मोहाली में इमारत ढहने से बड़ा हादसा, चार लोगों की मौत

पंजाब (Punjab) में मोहाली (Mohali) जिले के डेरा बस्सी में गुरुवार को एक इमारत (Building) ढहने से बड़ा हादसा हुआ है. हादसे में चार लोगों को मौत (Death) हो गई.

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 1:47 pm, Thu, 24 September 20

पंजाब (Punjab) में मोहाली (Mohali) जिले के डेरा बस्सी में गुरुवार को एक इमारत (Building) ढहने से बड़ा हादसा हुआ है. हादसे में चार लोगों को मौत (Death) हो गई. एनडीआरएफ (NDRF) की टीम ने मलबे में फंसे चार लोगों को बाहर निकाला. इमारत गिरने की आवाज सुनते ही लोगों में हड़कंप मच गया. जिसके बाद आसपास के लोग तुरंत घटनास्थल पर जमा हो गए. स्थानीय लोगों ने बचाव कार्य शुरू किया. इस बीच हादसे की जानकारी पुलिस को दी गई. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मृतकों के परिजनों को 2 लाख राहत राशि देने की घोषणा की है.

एनडीआरएफ के महानिदेशक ने ट्वीट कर बताया कि इस हादसे में अभी तक चार लोगों की मौत हो गई है जबकि कईयों के मलबे में दबे 4 लोगों को बचा लिया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, हादसे का शिकार हुई इमारत निर्माणाधीन थी और वहां मजदूर काम कर रहे थे. घायलों का नजदीकी अस्पताल में इलाज किया जा रहा है.

पंजाब में जनमत संग्रह की योजना बना रहा SFJ, सुरक्षा एजेंसियां सतर्क

भिवंडी इमारत हादसे में मरने वालों की संख्या 41 हुई

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के भिवंडी शहर में दुर्घटनाग्रस्त हुई इमारत के मलबे से कुछ और शव बरामद किए गए हैं. हादसे में मरने वालों की संख्या 41 तक पहुंच गई है. इस मानसून के सीजन में मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर) में मौतों के मामले में यह अब तक की सबसे बड़ी दुर्घटना है. इसके अलावा, नारपोली के पटेल कंपाउंड में चार दशक पुरानी जिलानी इमारत से अब तक 25 लोगों को बचाया गया है. इमारत सोमवार सुबह करीब 3.45 बजे दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी.

घटना के दौरान सभी पीड़ित अपने घरों में सो रहे थे. स्थानीय बचाव दल और एनडीआरएफ के साथ-साथ डॉग स्क्वायड ने दो दर्जन से अधिक लोगों की जान बचाई, और करीब 10 अन्य घायलों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया.

2 अधिकारी किए गए हैं निलंबीत

बीएनएमसी ने सोमवार देर रात दुर्घटना के सिलसिले में दो सिविक अधिकारियों सुधम जाधव और दुधनाथ यादव को निलंबित कर दिया, वहीं नारपोली पुलिस ने बिल्डर सैयद अहमद जिलानी और अन्य के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज किया है. राज्य के शहरी विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने इमारत के दुर्घटनाग्रस्त होने के संबंध में जांच के आदेश दिए हैं और इससे पहले मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि और घायलों को मुफ्त चिकित्सा देने की घोषणा की थी.

आखिर क्या है परेशानी? क्या मंडियों को वाकई खत्म करना चाहती है सरकार, पढ़िए किसान खुशहाल होगा या बेहाल?