राम मंदिर-कश्मीर का निपटारा हो गया, ये काम भी हो जाए तो ले लूंगा राजनीति से संन्यास- गिरिराज सिंह

गिरिराज सिंह से जब सीएम पद को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्री का उम्मीदवार नहीं हूं और न ही मेरी काबिलियत है.

नई दिल्ली: बेगूसराय से भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh ) अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं. उन्होंने एक और ऐसा बयान दिया है जिससे उनके राजनीति से संन्यास की अटकलें तेज हो गई हैं.

एक कार्यक्रम को संबोधित करते वक्त केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh ) ने कहा कि अब राजनीति को अलविदा (Retirement From Politics) कहने का समय आ गया है. उन्होंने कहा, “मैं राजनीति में ‘जहां हुए बलिदान मुखर्जी वो कश्मीर हमारा है’ और ‘बच्चा-बच्चा राम का’ नारे के साथ आए थे. अब अयोध्या में राम मंदिर स्थापना का काम पूरा हो गया है.”

गिरिराज सिंह से जब सीएम पद को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्री का उम्मीदवार नहीं हूं और न ही मेरी काबिलियत है. गिरिराज ने कटिहार में कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कह दिया है कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा. उन्होंने कहा, ‘जहां तक मेरा मुख्यमंत्री बनने का सवाल है. ना मैं मुख्यमंत्री का उम्मीदवार हूं, ना मेरी काबिलियत है. हम विधायक और सांसद बनने नहीं आए थे.’

इसके अलावा गिरिराज सिंह(Giriraj Singh hints at retirement )जनसंख्या नियंत्रण पर भी बयान दिया. उन्होंने कहा कि ‘देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून की जरूरत है और जिस दिन जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू हो जाएगा, मैं राजनीति से खुद को अलग कर लूंगा.’ इससे पहले भी गिरिराज सिंह कई बार जनसंख्या नियंत्रण कानून की वकालत कर चुके हैं.

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह 2019 लोकसभा चुनाव में बेगूसराय से जीतकर संसद पहुंचे हैं. यहां से कन्हैया कुमार ने उनको टक्कर दी थी लेकिन गिरिराज सिंह(Giriraj Singh hints at retirement )काफी मार्जन ने चुनाव में जीते थे. इससे पहले गिरिराज नवादा से सांसद चुनकर संसद पहुंचे थे.