शिवसेना के बाद कांग्रेस का कंगना रनौत पर वार, कहा- मुंबई को पीओके कहना बचकाना और निंदनीय

कांग्रेस (Congress) ने कोरोनोवायरस संकट (Coronavirus Crisis), देश में बेरोजगारी (Unemployment in India) और बिहार और अन्य स्थानों पर बाढ़ जैसी खबरों को तरजीह नहीं देने पर मीडिया की भी आलोचना की.

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) के बीच हुई जुबानी जंग के बाद कांग्रेस (Congress) के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सोमवार को कहा कि पार्टी, अभिनेत्री की किसी बात से असहमत होने के अधिकार का सम्मान करती है. साथ ही कांग्रेस ने कंगना की मुंबई-पीओके वाली टिप्पणी की भी आलोचना की.

कांग्रेस महाराष्ट्र में शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के साथ महा विकास अघाड़ी सरकार में सहयोगी है. कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, “मोदी जी और भाजपा के विपरीत, मैं अपने सबसे बड़ी आलोचक के अधिकार का बचाव करूंगा, जो कि कांग्रेस और महाराष्ट्र में गठबंधन सहयोगियों, शिवसेना और एनसीपी का सिद्धांत है.”

ये भी पढ़ें- उद्धव सरकार की कंगना पर बदले की कार्रवाई! अभिनेत्री का आरोप- बीएमसी कल तोड़ देगी मेरा ऑफिस

कंगना का बयान राजनीति से प्रेरित

रणदीप सुरजेवाला ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से करने के लिए कंगना की आलोचना की और कहा कि यह ‘राजनीति से प्रेरित’ है. सुरजेवाला ने कहा, “एक खास फिल्म अभिनेत्री के मोदी जी और भाजपा के एजेंडे पर चलने के बावजूद उन्हें पर्याप्त सुरक्षा दी जाएगी.”

कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि भारत की आर्थिक राजधानी को पीओके कहना बचकाना, गलत और राजनीतिक रूप से अवसरवादी और निंदनीय है. कांग्रेस ने कोरोनोवायरस संकट, देश में बेरोजगारी और बिहार और अन्य स्थानों पर बाढ़ जैसी खबरों को तरजीह नहीं देने पर मीडिया की भी आलोचना की.

ये भी पढ़ें- कंगना की Y कैटेगरी की सुरक्षा पर भड़के महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख, कहा आश्चर्यजनक और दुखद

इससे पहले कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने शिवसेना नेता संजय राउत के उस बयान की निंदा की थी, जिसमें उन्होंने कंगना रनौत के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल किया. इतना ही नहीं कांग्रेस नेता ने महाराष्ट्र का अपमान करने के लिए अभिनेत्री को भी घेरा था.

Related Posts