हलफनामे में उम्मीदवार ने दी जानकारी: 1.76 लाख करोड़ रुपए नकद और 4 लाख करोड़ के कर्ज में

इस बात को अगर सच मान लिया जाए तो वह देश के सबसे अमीर उम्मीदवार होंगे.

चेन्नई: तमिलनाडु के पेरमबूर विधानसभा सीट पर उपचुनाव को लेकर दायर किए गए हलफनामे में उम्मीदवार ने गलत जानकारी दी है. उम्मीदवार मोहनराज ने जो हलफनामा पेश किया है, उसमें उन्होंने बताया है कि उनके पास 1.76 लाख करोड़ रुपए नकद हैं. साथ ही उनपर 4 लाख करोड़ रुपए का कर्ज भी है.

गौरतलब है कि मोहनराज रिटायर पुलिस अफ्सर हैं और जेबामनी जनता पार्टी की ओर से चुनावी मैदान में हैं. 18 अप्रैल को नामांकन फार्म भरने के दौरान उन्होंने यह गलत जानकारी आयोग को दी. जो कि चुनाव आयोग की वेबसाइट पर भी उपलब्ध है. इस बात को अगर सच मान लिया जाए तो वह देश के सबसे अमीर उम्मीदवार होते.

हालांकि जब मोहनराज से चुनाव आयोग को गलत जानकारी देने के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा की उन्होंने सभी का ध्यान खींचने के लिए ऐसा किया. साथ ही सफाई पेश करते हुए उन्होंने कहा कि 2जी घोटाले की जांच सही तरह से नहीं हुई थी इसलिए उन्होंने हलफनामे में यह बात लिखी.

स्वतंत्रता सेनानी के बेटे मोहनराज ने बताया कि वह ऐसा करके तमिलनाडु सरकार की प्रशासनिक अक्षमताओं को उजागर करना चाहते थे. उन्होंने बताया कि तमिलनाडु पर साल 2020 तक 3.97 लाख करोड़ का कर्ज हो जाएगा, जिसकी जिम्मेदार मौजूदा सरकार है.