मल्‍लपुरम में मेनका गांधी के खिलाफ FIR, हथिनी की मौत पर उठाया था शिकार और स्‍मगलिंग का मुद्दा

मेनका गांधी (Maneka Gandhi) के खिलाफ मल्लपुरम पुलिस को 7 से ज्यादा शिकायतें मिली थीं, अंत में एक शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया है.
case filed against maneka gandhi in malappuram, मल्‍लपुरम में मेनका गांधी के खिलाफ FIR, हथिनी की मौत पर उठाया था शिकार और स्‍मगलिंग का मुद्दा

केरल (Kerela) राज्य में गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में दिए बयान के चलते लोकसभा सांसद मेनका गांधी के खिलाफ दर्ज की गई है.  हथिनी की मौत पर मेनका गांधी ने केरल वन विभाग की आलोचना करते हुए tweet किया था, जिसके बाद उनके खिलाफ मल्लपुरम (Malappuram) में केस दर्ज किया गया है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

अपने ट्वीट में मेनका गांधी ने लिखा था कि, ‘मल्लपुरम को खासतौर पर जानवरों के खिलाफ गहरी आपराधिक गतिविधियों के लिए जाना जाता है. एक भी शिकारी या स्मगलर के खिलाफ आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गयी जिस कारण वे ऐसा लगातार करते रहते हैं.’ मल्लपुरम पुलिस को इस संबंध में मेनका गांधी (Maneka Gandhi) के खिलाफ 7 से ज्यादा शिकायतें मिली थीं, अंत में एक शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया. मेनका गांधी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 153 के तहत केस दर्ज किया गया है.

धारा 153 में धर्म, जाति, जन्म-स्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर अलग-अलग समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने के लिए सजा का प्रावधान है. हालांकि हथिनी की दर्दनाक मौत पर सफाई देते हुए केरल के चीफ वाइल्डलाइफ वार्डन सुरेंद्र कुमार ने कहा था कि कि हथिनी की मौत पलक्कड़ (Palakkad) जिले में हुई थी ना कि मल्लपुरम. केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन (Pinarayi Vijayan) ने भी इस मामले में कहा कि मल्लपुरम का नाम इस मुद्दे में इसलिए उछाला जा रहा है क्योंकि यह राज्य में सबसे अधिक मुस्लिम जनसंख्या वाला जिला है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts