ऑटो ड्राइवर ने दम तोड़ा, तमिलनाडु पुलिस पर लगा बर्बरता से पीटने का एक और संगीन आरोप

डॉक्टरों ने बताया कि कुमारसेन (Kumaresan) की किडनी को काफी नुकसान पहुंचा था. कुमारसेन की मौत के बाद देर शाम उसके परिजनों ने न्याय (Justice) की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन किया. परिजनों ने पुलिसकर्मियों (Police) के खिलाफ केस भी दर्ज करा दिया है.
Case of death due to police brutality, ऑटो ड्राइवर ने दम तोड़ा, तमिलनाडु पुलिस पर लगा बर्बरता से पीटने का एक और संगीन आरोप

तमिलनाडु (Tamil Nadu) में पुलिस की बर्बरता (Police Brutality) का एक और मामला सामने आया है. राज्य में एक ऑटो चालक (Auto Driver) की अस्पताल में भर्ती होने के 15 दिनों बाद शनिवार रात मौत हो गई. ऑटो ड्राइवर के परिजनों ने इस मौत के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराया है. परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने उस ऑटो चालक की बर्बरता से पिटाई की, जिस वजह से उसकी मौत हुई है. इस ऑटो चालक का नाम एन कुमारेसन है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

भूमि विवाद मामले को लेकर बुलाया गया था स्टेशन

जानकारी के अनुसार, पेशे से ऑटो चालक एन कुमारसेन को भूमि विवाद मामले (Land Dispute Case) के बारे में पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन बुलाया गया था. परिजनों का आरोप है कि वहां पुलिस ने उसकी बेरहमी से पिटाई की. पूछताछ के एक दिन के बाद कुमारेसन घर वापस लौटा, लेकिन किसी से कुछ नहीं बोला. बाद में, कुमारेसन को खून की उल्टियां होने लगींं, जिसे देखकर उसे सुरंदई के एक अस्पताल ले जाया गया. बाद में उसे वहां से तिरुनेलवेली के सरकारी अस्पताल में रेफर कर दिया गया.

दो पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज किया गया मामला

डॉक्टरों ने बताया कि कुमारसेन की किडनी और तिल्ली को काफी नुकसान पहुंचा था. परिजनों ने कहा कि पुलिस ने उसे कथित तौर पर उसके पिता को नुकसान पहुंचाने की धमकी दी थी. कुमारसेन की मौत के बाद देर शाम उसके परिजनों ने न्याय की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन किया. परिजनों ने थाने की पुलिस के खिलाफ केस दर्ज करा दिया है. दो पुलिसकर्मियों, उप-निरीक्षक चंद्रशेखर और कांस्टेबल कुमार के खिलाफ IPC की धारा 174 (3) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

पिछले दिनों की घटना से लोगों में है बेहद गुस्सा

बताते चलें कि पिछले दिनों तमिलनाडु के तूतीकोरिन (Tuticorin) में पुलिस हिरासत में एक पिता और उनके बेटे की मौत के बाद शहर में आक्रोश पैदा हो गया है. आरोप है कि पुलिस की बर्बरता की वजह से दोनों की मौत हुई है. इस मामले ने अब राजनीतिक रंग भी ले लिया है. इस घटना के बाद राज्य कानून में सुधार करने की मांग उठने लगी है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts