CBI ने भ्रष्टाचार के शक में 150 जगहों पर की सरप्राइज चेकिंग

आने वाले दिनों में CBI लोगों को जागरूक करेगी कि जनता सरकारी दफ्तरों में जाकर अपनी शिकायत कैसे कर सकती है.

केंद्र सरकार के ‘भ्रष्टाचार मुक्त भारत’ बनाने के सपने को साकार करने और हाल ही में 15 अगस्त पर पीएम मोदी के ‘इज ऑफ लिविंग’ पर दिए गए बयान के बाद CBI ने आज एक स्पेशल ड्राईव चलाई और 150 जगहों पर ज्वाइंट सरप्राइज चेक यानी औचक निरीक्षण किये गए. खास बात ये है कि धारा 370 हटने के बाद ये औचक निरीक्षण श्रीनगर के सरकारी विभागों में भी किये गए.

देश भर में अलग-अलग विभागों के विजिलेंस अफसरों के साथ मिलकर, ये औचक निरीक्षण किये गए, जहां करप्शन का शक था. ये औचक निरीक्षण उन सरकारी विभागों में किये गए जहां आम लोगों की भ्रष्टाचार को लेकर अकसर शिकायतें आती रहती थीं. CBI ने विजिलेंस टीम के साथ मिलकर इन तमाम विभागों में आम लोगों का दिक्कते पेश आती हैं, ये जानने की कोशिश की.

ये ज्वाइंट सरप्राइज चेकिंग स्पेसिफाई और हाइलाइट करने के लिए उन प्वाइंट्स और जगहों पर भी की गई जो करप्शन में लिप्त है, ताकि वहा करप्शन को घटाने में मदद मिले. CBI द्वारा आने वाले दिनों में ये स्पेशल ड्राईव और चलाई जाएगी और लोगों को जागरूक किया जाएगा कि कैसे जनता सरकारी दफ्तरों में जाकर अपनी शिकायत दे सकते हैं.

ये इज ऑफ लिविंग का भी पार्ट है. रोजमर्रा डिपार्टमेंट की जरूरत होती है उनमें जैसे बिजली, पानी बिल समस्या, सर्टिफिकेट वितरण जैसे मामलो में.

जहां-जहां ये औचक निरीक्षण हुए हैं वो इस तरह हैं…

रेलवे, कोल माइंस एंड कोल फ़ील्ड्स, मेडिकल हेल्थ केअर, एफसीआई, पॉवर, नगर निगम, ESIC, ट्रांसपोर्ट, CPWD, डायरेक्टरेट ऑफ स्टेट्स, फायर सर्विसेज, सब रजिस्ट्रार आफिस, एनसीटी के इंडस्ट्रीज डिपार्टमेंट, gst department, कोर्ट ट्रस्ट, davp, एयरपोर्ट ऑर्थोरिटी ऑफ इंडिया, पब्लिक सेक्टर आयल comqpnies, dgft, पब्लिक सेक्टर बैंक्स, फाइनेंसियल इंस्टिट्यूशन, ASI, CDOA, शिपिंग कारपोरेशन, BSNL, माइंस एन्ड मिनिरल्स, कांटेंमेंट बोर्ड्स की जांच की गई.

किन-किन शहरों में हुए औचक निरीक्षण

दिल्ली, जयपुर, जोधपुर, गुवाहाटी, श्रीनगर, शिलॉन्ग, चंडीगढ़, शिमला, चेन्नई, मधुरई, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलुरु, मुंबई, पुणे, गांधीनगर, गोवा, भोपाल, जबलपुर, नागपुर, पटना, रांची, गाज़ियाबाद, लखनऊ, बड़ोदरा, अहमदाबाद, कोच्चि और देहरादून में औचक निरिक्षण किए गए हैं.

ये भी पढ़ें- देश में बचे सिर्फ 12 सरकारी बैंक, 10 बैंकों का 4 में विलय, OBC और यूनाइटेड बैंक PNB में मर्ज