BHEL महिला कर्मचारी के आत्महत्या की हो CBI जांच, परिवार ने की मांग; DGM पर प्रताड़ित करने का आरोप

नेहा सुसाइड नोट में लिखा था कि हैदराबाद BHEL में कार्यरत डीजीएम फाइनेंस ऑर्थर किशोर कुमार ने उन्हें पिछले दो महीनों में काफी प्रताड़ित किया था.

भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL) की अधिकारी नेहा चौकसे की आत्म हत्या मामले में सीबीआई जांच की मांग की गई है. ये मांग नेहा के परिवारवालों ने की है. परिवारवालों का आरोप है कि BHEL की भोपाल यूनिट से नेहा चौकसे के साथ प्रताड़ना का सिलसिला शुरू हुआ था, जो BHEL की हैदराबाद यूनिट में रहने तक जारी रहा.

BHEL भोपाल से हुआ था ट्रांसफर

आपको बता दें कि नेहा चौकसे BHEL की भोपाल यूनिट से ट्रांसफर होकर हैदराबाद यूनिट गईं थी. भेल की हैदराबाद यूनिट में बतौर डिप्टी ऑफिसर (अकाउंट्स) नेहा चौकसे ने गुरुवार को आत्महत्या कर ली थी. नेहा ने अपने सुसाइड नोट में सहकर्मियों की प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या करने की बात लिखी थी.

फोन भी हैक कर लिये थे

सुसाइड नोट में नेहा ने आरोप लगाया है कि भोपाल BHEL में काम करने वाली नीलिमा और रुचिता नाम की महिलाओं ने भी उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित किया. हैदराबाद ट्रांसफर होने के बाद इन्होंने वहां भी बदनाम करने की कोशिश की. नेहा ने पत्र में लिखा है कि ऑर्थर ने उनके पति व परिवार वालों के फोन भी हैक कर लिये थे.

दो महीनों में काफी प्रताड़ित किया

आत्महत्या से पहले नेहा ने अलग-अलग जगहों पर सहकर्मियों की हरकतों की शिकायत की थी. तेलंगाना पुलिस में फोन हैक किए जाने की शिकायत दर्ज कराई थी. नेहा ने एक पत्र में लिखा है कि पति के साथ रहने के लिए उन्होंने भोपाल से हैदराबाद BHEL में ट्रांसफर कराया था. हैदराबाद BHEL में कार्यरत डीजीएम फाइनेंस ऑर्थर किशोर कुमार ने उन्हें पिछले दो महीनों में काफी प्रताड़ित किया था.

सीबीआई जांच की मांग

नेहा के मुंह बोले भाई संजय चौकसे ने नेहा की आत्महत्या की सीबीआई जांच करने की मांग की है, ताकि ये पता चल सके कि नेहा को आखिर किस बात ने इतना ज्यादा परेशान और डर से भर दिया था कि ट्रांसफर के महज 4 महीनों में ही उसने सुसाइड कर लिया.

ये भी पढ़ें-

‘DGM परेशान करते हैं, मेरा रेप भी हो सकता है’, लिखकर BHEL की महिला कर्मचारी ने लगाई फांसी

कमलेश तिवारी हत्याकांड में CM योगी से दिग्विजय का सवाल- यह सुनियोजित हत्या है या नहीं?