CBI vs CBI : कोर्ट के भीतर भिड़े अफसर, जज ने फटकारा- एक ही संस्‍थान से हो और यहां लड़ रहे हो

अजय कुमार बस्सी कोर्ट को अपनी जांच के बारे में जानकारी दे रहे थे तभी सतीश डागर ने उन्हें रोक दिया. सतीश डागर ने कहा कि बस्सी जो कह रहे है वो केस डायरी में लिखा नहीं हुआ है.
CBI vs CBI Case, CBI vs CBI : कोर्ट के भीतर भिड़े अफसर, जज ने फटकारा- एक ही संस्‍थान से हो और यहां लड़ रहे हो

सीबीआई vs सीबीआई मामले में रॉउज एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई के दौरान पहले आईओ (इंवेस्टिगेशन ऑफिसर) अजय कुमार बस्सी और दूसरे आईओ सतीश डागर आपस में भिड़ गए.

अजय कुमार बस्सी कोर्ट को अपनी जांच के बारे में जानकारी दे रहे थे तभी सतीश डागर ने उन्हें रोक दिया. सतीश डागर ने कहा कि बस्सी जो कह रहे है वो केस डायरी में लिखा नहीं हुआ है. इसी बात पर अजय कुमार बस्सी और सतीश डगर आपस मे भिड़ गए.

अजय कुमार बस्सी ने कोर्ट से कहा कि सतीश डागर ने पहले से ही मन बना लिया था कि राकेश अस्थाना को क्लीन चिट देनी है.

दोनों की इस बहसबाजी को रोकते हुए केस की सुनवाई कर रहे जज ने दोनों ही अफसरों को फटकार लगाई. जज ने कहा कि आप दोनों एक ही संस्थान से हो और यहां लड़ रहे हो. आप दोनों से बड़ा संस्थान है.

क्या है मामला?

सीबीआई ने पिछले साल राकेश अस्थाना पर घूस लेने के आरोप में केस दर्ज़ किया था. अस्थाना पर मांस कारोबारी मोइन कुरैशी से मामले का निपटारा करने के लिए घूस लेने का आरोप लगाया गया था.

दिसंबर 2017 से अक्टूबर 2018 के बीच कम से कम पांच बार रिश्वत लिए जाने का आरोप है. विवाद इतना बढ़ा था कि राकेश अस्थाना ने तत्कालीन CBI निदेशक आलोक वर्मा पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया था.

केंद्र सरकार ने तत्कालीन सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और और डिप्टी CBI निदेशक राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया था. दोनों ने एक दूसरे पर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया था.

31 मई को दिल्ली हाई कोर्ट ने इस मामले में एजेंसी को चार महीने में जांच प्रक्रिया पूरा करने का आदेश दिया था. सीबीआई एसपी सतीश सिंह डागर को एके बस्सी की जगह इस केस में इंवेस्टिंग ऑफ़िसर बनाया गया था.

 

ये भी पढ़ें-   झारखंड: एक ट्वीट ने बदली बेघर बुजुर्ग की जिंदगी, सीएम सोरेन के आदेश से मिला घर, पेंशन और राशन कार्ड

दंगों के हालात से निपटने में माहिर एसएन श्रीवास्तव बने दिल्ली के नए पुलिस कमिश्नर, जानिए हर डीटेल

Related Posts