सितंंबर में होंगे 10वीं और 12वीं के कम्‍पार्टमेंट एग्जाम्स: CBSE

CBSE ने साफ किया कि 'कम्‍पार्टमेंट परीक्षाएं कैंसिल नहीं की जाएंगी. परीक्षा जरूर ली जाएंगी, लेकिन इसी के साथ यह भी कहा है कि कोरोनावायरस महामारी के हालात को देखते हुए एक तय स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) के तहत बोर्ड ये एग्जाम्स आयोजित कराने का काम करेगा.'
cbse compartment exams in September, सितंंबर में होंगे 10वीं और 12वीं के कम्‍पार्टमेंट एग्जाम्स: CBSE

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) 10वीं और 12वीं के छात्रों की कम्‍पार्टमेंट परीक्षाएं (Compartment Exam) सितंबर महीने के दौरान ले सकता है. हालांकि इसके लिए अभी कोई तारीख तय नहीं की गई है. स्कूल और छात्रों को इस बारे में सूचित किया जा रहा है. कई राज्यों में स्कूलों ने कम्‍पार्टमेंट परीक्षा के लिए फॉर्म भी जारी कर दिए हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

CBSE ने कम्‍पार्टमेंट परीक्षाएं के संबंध में लेटर जारी कर दिया है, जिसकी कॉपी सभी संबंधित स्कूलों को दी गई है. इससे पहले CBSE ने कम्‍पार्टमेंट परीक्षाएं कराने या न कराने को लेकर छात्रों और उनके अभिभावकों से सुझाव मांगे थे.

CBSE को मिले थे परीक्षा रद्द कराने के सुझाव

CBSE को मिले सुझावों में अधिकतर सुझाव परीक्षा रद्द कराने के पक्ष में थे, छात्रों का तर्क है कि ‘सभी कॉलेजों में 15-20 अगस्त तक एडमिशन खत्म हो जाएंगे, इसलिए अगर बोर्ड एग्जाम्स कराएगा तो उन्हें किसी भी कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल पाएगा. इसलिए छात्रों की मांग है कि बोर्ड परीक्षाएं कैंसिल करके छात्रों को प्रमोट करे.’

लेकिन बोर्ड ने कम्‍पार्टमेंट परीक्षा कराने का फैसला लिया है. अगले हफ्ते परीक्षा की तारीख जारी होने की संभावना है. सामान्य रूप से बोर्ड परीक्षाओं के नतीजे जारी होने के बाद कम्‍पार्टमेंट की परीक्षाएं जुलाई महीने में ली जाती हैं. हालांकि इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से पहले बोर्ड की कई परीक्षाएं रद्द करनी पड़ीं और फिर 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट में भी देरी हुई.

अधिकतर छात्रों की आई है कम्‍पार्टमेंट

इससे पहले CBSE ने अदालत में अपना जवाब दाखिल करते हुए कम्‍पार्टमेंट परीक्षा कराने की बात कही. शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) और CBSE के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, कम्‍पार्टमेंट की ये परीक्षाएं सितंबर के पहले हफ्ते में करवाई जा सकती हैं. 10वीं में अधिकतर छात्रों की गणित, सोशल साइंस और साइंस में कम्‍पार्टमेंट आई है. वहीं 12वीं में गणित, अकाउंट और इकोनॉमिक्स में आई है.

‘कम्‍पार्टमेंट की परीक्षाएं करवाना है जरूरी’

CBSE ने कहा, “JEE Main, NEET (UG) और JEE एडवांस बड़ी परीक्षाएं हैं. इनके लिए बोर्ड रिजल्ट की जरूरत पड़ती है. इसी के आधार पर अगली कक्षाओं के लिए एडमिशन मिलता है. ऐसे में कम्‍पार्टमेंट की परीक्षाएं करवाना जरूरी है, क्योंकि कई ऐसे छात्रों ने इन परीक्षाओं का फॉर्म भरा है, जिनकी इस साल कम्‍पार्टमेंट आई है. अगर कम्‍पार्टमेंट एग्जाम्स रद्द किए जाते हैं, तो कई छात्र-छात्राओं का भविष्य संकट में आ जाएगा.” (IANS)

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts