लॉकडाउन के दौरान जो छात्र जहां है, वहीं दे सकेगा CBSE एग्‍जाम: निशंक

केंद्रीय मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि COVID-19 के चलते जो छात्र घर चले गए थे और परीक्षा नहीं दे पाए उन्‍हें अब उनके गृह जिले में ही परीक्षा देने का मौका जा रहा है.

  • TV9.com
  • Publish Date - 12:44 am, Thu, 28 May 20

केंद्रीय मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर वीडियो शेयर कर यह जानकारी दी कि लॉकडाउन के चलते अगर कोई छात्र परीक्षा केंद्र या अपने स्कूल से दूर किसी दूसरे शहर में फंसा है, तो वह जहां है उसी जगह पर एग्जाम दे सकेगा. इसके लिए उन्हें जून के पहले हफ्ते में अपने स्कूल को इसकी जानकारी देनी, होगी ताकि CBSE उनके आसपास एग्जाम सेंटर की व्यवस्था कर सके. लॉकडाउन के ऐलान के बाद से हॉस्टल में रहने वाले अधिकतर छात्र अपने घरों को लौट गए थे, जिनकी सहूलियत के लिए यह फैसला लिया गया है.

बता दें की 10वीं के एग्जाम केवल दिल्ली के दंगा प्रभावित इलाकों में रद्द हुई परीक्षाओं के होंगे. 10वीं का रिजल्ट पहले हो चुकी परीक्षाओं और उनके इंटरनल मार्क्स के आधार पर तैयार किया जाएगा. वहीं दूसरी ओर 12वीं के बोर्ड एग्जाम देशभर में होने हैं.