चीनी संस्थाओं पर IT रेड, 1000 करोड़ का हवाला-मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट, लुओ सैंग नाम का शख्‍स हिरासत में

इनकम टैक्स को इस बात की जानकारी मिली थी की देश में हवाला के जरिए करोड़ों का कारोबार हो रहा है और इसमें चीन के नागरिक भी शामिल हैं. जिसके बाद इनकम टैक्स की टीम ने ये सर्च ऑपरेशन चलाया.
it department searches premises of chinese entities, चीनी संस्थाओं पर IT रेड, 1000 करोड़ का हवाला-मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट, लुओ सैंग नाम का शख्‍स हिरासत में

इनकम टैक्स ने दिल्ली, गाजियाबाद और गुरूग्राम में 24 ठिकानों पर छापेमारी कर 1000 करोड़ के हवाला और मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट का खुलासा किया है. ये रैकेट चीनी नागरिक कुछ भारतीयों के साथ मिलकर चला रहे थे.

भारत सरकार द्वारा चीनी कंपनियों की एप्लिकेशन को बंद करने के बाद, भारत में रह रहे चीनी नागरिकों के चल रहे अवैध कारोबार पर ये पहला बड़ा एक्शन है.

हवाला के जरिए करोड़ों का कारोबार

इनकम टैक्स को इस बात की जानकारी मिली थी की देश में हवाला के जरिए करोड़ों का कारोबार हो रहा है. इसमें चीन के नागरिक भी शामिल हैं. इसी जानकारी के आधार पर इनकम टैक्स ने दिल्ली गाजियाबाद और गुरूग्राम में रिटेल शॉप, बैंक अधिकारी, चार्टेड अकांउटेंट और व्यापारियों के 24 ठिकानों पर ये छापेमारी की.

40 बैंक खाते खोले गए

इस छापेमारी में पता चला कि चीन के लोग भारत में बैंक अधिकारियों, चार्टेड अकाउंटेंट के साथ मिल कर हवाला और मनी लॉन्ड्रिंग का कारोबार चला रहे है. इन चीनी नागरिकों के कहने पर फर्जी कंपनियां बनाई गईं और 40 बैंक खाते खोले गए जिसके जरिए 1000 करोड़ का हवाला का कारोबार किया. इन फर्जी कपंनियों के जरिए 100 करोड़ रुपये निकाले गए और फिर उनसे देशभर में रिटेल शोरुम खोले गए.

बैंक अधिकारियों और चार्टेड अकाउंटेंट की मिलीभगत

इनकम टैक्स की इस छापेमारी में बैंक अधिकारियों और चार्टेड अकाउंटेंट की मिलीभगत का भी खुलासा हुआ है और दस्तावेज भी बरामद हुए है. हांगकांग और अमेरिकी डॉलर के जरिए हवाला के कारोबार का भी पता चला है.

एक चीनी नागरिक हिरासत में

इस मामले में एक चीनी नागरिक हिरासत में लिया गया है. जिसका नाम लुओ सैंग है, वो चार्ली पेंग के नाम से भारत में रह रहा था. चीन मूल का रहने वाला है लेकिन ये अपने आप को मणिपुर का निवासी बताकर भारत में हवाला कारोबारियों के साथ मिलकर भारतीय एजेंसियो को धोखा दे रहा था. कई बैंककर्मियों और सरकारी अधिकारियों के यहां भी सर्च ऑपरेशन हुआ है.

Related Posts