किसानों और रेहड़ी पटरीवालों पर मेहरबान हुई केंद्र सरकार, किया कैबिनेट मीटिंग में ये ऐलान

कैबिनेट ब्रीफिंग में सरकार ने किसानों के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले किए हैं. इसके तहत 14 फसलों के समर्थन मूल्य को लागत मूल्य के 50 से 83 प्रतिशत तक बढ़ाया गया है. वहीं रेहड़ी पटरी वालों के लिए बिना गारंटी लोन की योजना भी शुरू की गई है.
Central government gave relief to farmers and loan to street vendors, किसानों और रेहड़ी पटरीवालों पर मेहरबान हुई केंद्र सरकार, किया कैबिनेट मीटिंग में ये ऐलान

किसानों और रेहड़ी पटरीवालों को आज (सोमवार को) केंद्र सरकार ने तोहफा दिया है. कैबिनेट की मीटिंग में जहां एक ओर किसानों की झोली भरने की कोशिश की गई वहीं रेहड़ी पटरीवालों पर भी मेहरबानी दिखाई दी. किसानों के लिए केंद्र सरकार ने महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को बढ़ाया है. इसके जरिये किसानों को लागत का डेढ़ गुना दाम मिलेगा.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

2018-19 की आधार पर कैबिनेट ने इस सीजन में खरीफ फसलों खासकर धान, ज्वार, बाजरा सूरजमुखी, रामतेल कपास के समर्थन मूल्य में लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने का फैसला किया है. 14 फसलों के समर्थन मूल्य को लागत मूल्य के 50 से 83 प्रतिशत तक बढ़ाया गया है.

किसानों के लिए कर्ज भुगतान की मियाद बढ़ाई

किसानों के लिए दूसरा महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए केंद्रीय कैबिनेट ने ये तय किया है कि जिन किसानों को 31 मार्च तक कर्ज चुकाना था उसे पहले लॉकडाउन के चलते 31 मई किया गया था. अब कैबिनेट ने किसानों को राहत देते हुए ये मियाद 31 अगस्त तक कर दी है. किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड से दिए जाने वाले कर्ज का भुगतान के मियाद को 31 मई से बढ़ाकर 31 अगस्त कर दिया है.

इसके तहत जो किसान समय पर कर्ज चुकाएंगे उन्हें 3 फीसदी ब्याज की छूट भी मिलेगी. आमतौर पर किसानों को 7 फीसदी पर कर्ज दिया जाता है और समय पर कर्ज चुकाने वालों को ये फायदा दिया जाता है.

रेहड़ी पटरी वालों को भी मिलेगा लोन

मोदी सरकार ने एक अन्य महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए 50 लाख रेहड़ी पटरी वालों को बिना गारंटी 10,000 रुपये का कर्ज देने का फैसला किया है. रेहड़ी-पटरी वालों को कर्ज देने वाली इस योजना का नाम पीएम स्वनिधि होगा.

Related Posts