चीन की डिजिटल जासूसी पर केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, बनाई एक्सपर्ट कमेटी, 30 दिन में मांगी रिपोर्ट

चीन की शेनजेन स्थित इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी जेन्हु पर लगभग 10 हजार भारतीय नागरिकों पर 'डिजिटल जासूसी' का गंभीर आरोप लगा है, जिसमें पीएम मोदी से लेकर सोनिया गांधी तक शामिल हैं.

india china, india china population, population density of india

चीन की तरफ से भारत में करीब 10,000 लोगों के डाटा की निगरानी करने के मामले की बारीकी से जांच के लिए भारत सरकार ने एक एक्सपर्ट कमेटी बनाई है.

ANI न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि इस मामले में भारत सरकार ने डिजिटल जासूसी की इन रिपोर्टों का अध्ययन करने, उनका मूल्यांकन करने और कानून के किसी भी उल्लंघन का आकलन करने के लिए राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक के तहत एक एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया है. यह कमेटी 30 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी.

मालूम हो कि चीन की शेनजेन स्थित इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी जेन्हु पर लगभग 10 हजार भारतीय नागरिकों पर ‘डिजिटल जासूसी’ का गंभीर आरोप लगा है.

सूत्रों ने यह भी बताया कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल को सरकार के इस फैसले की जानकारी भी दी है, क्योंकि उन्होंने और कई सांसदों ने सरकार से अपील की थी कि चीन की जासूसी से भारतीय राजनेताओं और दूसरे लोगों के डाटा को बचाया जाए.

चीनी राजदूत के सामने भी उठाया मुद्दा

सूत्रों ने आगे बताया कि विदेश मंत्रालय ने आज चीन की इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी जेन्हु पर लगे कथित डिजिटल जासूसी के आरोपों का मुद्दा भारत में चीन के राजदूत के सामने भी उठाया. चीन ने कहा कि जेन्हु ​​एक निजी कंपनी है और सार्वजनिक रूप से अपने बारे में बता चुकी है.

“रिपोर्ट को गंभीरता से ले रही है सरकार”

सूत्रों ने आगे बताया कि भारत सरकार इस रिपोर्ट को बहुत गंभीरता से ले रही है, जिसमें बताया गया कि विदेशी बिना हमारी सहमति के हमारे नागरिकों के व्यक्तिगत डेटा तक पहुंचने या प्राप्त करने की कोशिश कर रह हैं. भारतीय नागरिकों की गोपनीयता और निजी डेटा की सुरक्षा को भारत सरकार बहुत गंभीरता से लेती है.

मालूम हो कि इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट में बताया गया था कि चीन भारत में करीब 10,000 लोगों के डाटा की निगरानी कर रहा है. चीन भारत के हाई प्रोफाइल लोगों पर भी नजर बनाए हुए है जिसमें पीएम मोदी से लेकर सोनिया गांधी तक शामिल हैं.

क्या है चीन पर आरोप

  • इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक 10,000 भारतीय लोगों की जासूसी कर रहा चीन.
  • जासूसी करने वाली चीनी कंपनी का कम्युनिस्ट पार्टी से संबंध होने का आरोप.
  • हाईप्रोफाइल लोगों के काम करने के तरीके पर रखी जा रही नजर.
  • निजी जिंदगी में भी ताकझांक करने का आरोप.
  • चीनी कंपनी ने तैयार किया है इन्फर्मेशन का डाटाबेस.

नेता से लेकर बिजनेसमैन तक शामिल

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीजेआइ एसए बोबडे, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जैसी टॉप हस्तियां चीन की निगरानी में है. कंपनी इन हस्तियों की रियल टाइम निगरानी कर रही है. इसमें उनसे जुड़ी हर छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी सूचना शामिल है.

इस लिस्ट में  राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, महाराष्ट्रके सीएम उद्धव ठाकरे, ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक का नाम भी शामिल है.

Related Posts