पीएम के साथ रह रहा हो परिवार, तभी मिलेगी एसपीजी सुरक्षा; पढ़ें और क्या हुए बदलाव?

एसपीजी कानून के तहत पूर्व प्रधानमंत्री को पद छोड़ने के एक साल बाद तक या फिर खतरे के आंकलन के आधार पर एसपीजी सुरक्षा देने के प्रावधान में बदलाव नहीं किया जाएगा.
Bill proposes SPG cover to PMs family, पीएम के साथ रह रहा हो परिवार, तभी मिलेगी एसपीजी सुरक्षा; पढ़ें और क्या हुए बदलाव?

राहुल गांधी परिवार को मिल रही एसपीजी (विशेष सुरक्षा दल) सुरक्षा हटाए जाने के एक दिन बाद ही सोमवार को लोकसभा में एक बिल पेश किया गया.

इस बिल के मुताबिक पीएम का परिवार उनके साथ रह रहा होगा तभी उन्हें एसपीजी सुरक्षा मिलेगी. इतना ही नहीं पूर्व पीएम और उनके परिवार को भी सिर्फ पांच सालों तक ही एसपीजी सुरक्षा मुहैया कराया जाएगा.

केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तावित बिल के मुताबिक, ‘पीएम और उनके परिवार को एसपीजी सुरक्षा उनके आधिकारिक आवास में रहने पर ही मुहैया कराया जाएगा. इतना ही नहीं पीएम पद से हटने के बाद भी जब तो वो और उनके परिवार के लोग आधिकारिक आवास में होंगे तभी तक उन्हें यह सुविधा मिल पाएगी. यह सुविधा केवल पांच सालों के लिए ही है.

एसपीजी कानून के तहत पूर्व प्रधानमंत्री को पद छोड़ने के एक साल बाद तक या फिर खतरे के आंकलन के आधार पर एसपीजी सुरक्षा देने के प्रावधान में बदलाव नहीं किया जाएगा.

बता दें कि एसपीजी कमांडो देश के प्रधानमंत्री, उनके परिजनों, पूर्व प्रधानमंत्रियों और उनके परिवार के सदस्यों की सुरक्षा का जिम्मा संभालते हैं. सुरक्षा संबंधी खतरों के आधार पर यह सुरक्षा दी जाती है.

यानी कि अगर प्रधानमंत्री का निधन हो जाता है तो उनके परिवार को एसपीजी सुरक्षा नहीं मिलेगी. इस एक्ट में अब तक कुल चार बार (1991, 1994,1999 और 2003) संशोधन हुआ है.

Related Posts