शाहीन बाग पहुंचे चंद्रशेखर आजाद बोले- पहले गोरों को भगाया अब काले अंग्रेजों की बारी

मंच से अपने संबोधन में चंद्रशेखर ने कहा, "विश्वास दिलाता हूं कि अब देश में 5 हजार शाहीन बाग होंगे."

दिल्ली के शाहीन बाग में CAA के विरोध में चल रहे प्रदर्शन में बुधवार को भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद भी पहुंचे. यहां उन्होंने कहा कि सरकार को यह गुमान है कि हम कानून वापस नहीं लेंगे, तो हम भी संघर्ष के लिए तैयार हैं और मैं इसमें सबसे आगे रहूंगा.

मंच से अपने संबोधन में चंद्रशेखर ने कहा, “शाहीन बाग देख कर जलियांवाला बाग की याद आ गई. हमने गोरे अंग्रेजों को भगाया था अब काले अंग्रेजों की बारी है.” उन्होंने कहा, “सरकार को यह गुमान है कि वो कानून वापस नहीं लेंगे. अगर ऐसा है तो हम भी संघर्ष के लिए तैयार हैं और मैं इसमें सबसे आगे रहूंगा. मुझे ताज और तलवार में से किसी एक को चुनना हो तो मैं तलवार चुनूंगा.”

देश में होंगे 5 हजार शाहीन बाग

चंद्रशेखर ने कहा, “ये लोग मुझे जब देखते हैं तो डर के मारे अंदर कर देते हैं पर मैं पीछे नहीं हटूंगा.” उन्होंने आगे कहा, “मैं अगले कुछ दिनों में देश भर में घूमूंगा और ये विश्वास दिलाता हूं कि अब देश में 5 हजार शाहीन बाग होंगे.” सड़क बंद होने पर आजाद ने कहा, “दिल्ली का कोई ऐसा रास्ता बताइए जहां जाम न लगता हो. तो इस सड़क के बंद होने से क्या परेशानी है? क्या यह नोटबंदी से ज्यादा बड़ी परेशानी है?”

“न हम सोएंगे और न सरकार को सोने देंगे”

भीम आर्मी चीफ ने कहा कि न हम सोएंगे और न ही सरकार को सोने देंगे. उन्होंने कहा, “हम सब में देश बचाने का जज्बा है. कुर्बानी का जज्बा है, इसलिए यहां बैठीं मेरी एक भी बहन को लाठी नहीं लगनी चाहिए. सरकार झूठ बोलती है कि सिर्फ मुस्लिम ही CAA का विरोध कर रहे हैं. यहां कौन नहीं है? यहां तिरंगा भी है और बाइबल भी. इसलिए न हम सोएंगे और न ही सरकार को सोने देंगे.”

ये भी पढ़ें: 

अलीगढ़: सावरकर के खिलाफ बोले मैग्सेसे पुरस्कार विजेता संदीप पांडेय, FIR दर्ज

Related Posts