चंद्रयान-2: ISRO का ट्वीट- साथ खड़े होने के लिए धन्यवाद, पूरा करते रहेंगे भारतीयों के सपने

चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की चंद्रमा पर हार्ड लैंडिंग की वजह से मिशन आंशिक रूप से ही सफल हो पाया था.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने चंद्रयान-2 के लिए मिले अपार समर्थन के लिए सबका आभार व्यक्त किया है. इसरो ने इसे लेकर ट्वीट किया है. इसरो ने लिखा, “हमारे साथ खड़े होने के लिए धन्यवाद. हम दुनियाभर में भारतीयों की आशाओं और सपनों से प्रेरित होकर आगे बढ़ते रहेंगे!”

नहीं हो पाई थी सॉफ्ट लैंडिंग
चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की चंद्रमा पर हार्ड लैंडिंग की वजह से मिशन आंशिक रूप से ही सफल हो पाया था. इसके बाद भी पूरा देश इसरो की हौसला आफजाई करता रहा. अंतरिक्ष विज्ञान जगत में भारत को गौरवान्वित करने वाले इसरो ने दुनियाभर में बसे भारतीयों के सपनों को साकार करने का भरोसा दिलाया.


चंद्रयान-2 मिशन की लॉन्चिंग के 47वें दिन लैंडर विक्रम को चांद की सतह पर उतरना था. लेकिन विक्रम का 6-7 सितंबर की दरम्यानी रात को ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ के प्रयास के अंतिम क्षणों में उस समय इसरो के कंट्रोल रूम से संपर्क टूट गया था जब यह चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर की दूरी पर था.

चंद्रयान-2 ने अपने 47 दिनों की यात्रा के दौरान कई मुश्किल पड़ाव पार किए. अंत में उसे विक्रम लैंडर के जरिए रोवर प्रज्ञान के चांद की सतह पर उतारना था. इसके लिए विक्रम को चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिग करानी थी, लेकिन शायद उसकी गति नियंत्रित ने हो पाने से हार्ड लैंडिंग हुई.

दोबारा संपर्क साधने की हो रही कोशिश
चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर ने कुछ समय बाद चांद की सतह पर तिरछे पड़े विक्रम की तस्वीर भेजी. इससे देशभर में एक नई उम्मीद जगी. इसरो ने विक्रम से दोबारा संपर्क स्थापित करने की जीतोड़ कोशिश की, लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी.

वहीं, अब नासा (NASA) भी विक्रम लैंडर से संपर्क साधने में इसरो की मदद कर रही है. इसरो के एक अधिकारी ने बताया कि ‘चंद्रमा के विक्रम के साथ संचार लिंक फिर से स्थापित करने के प्रयास किए जा रहे हैं. यह प्रयास 20-21 सितंबर तक किए जाएंगे, जब सूरज की रोशनी उस क्षेत्र में होगी, जहां विक्रम उतरा है.’

ये भी पढ़ें-

CRPF जवानों के लिए खुशखबरी, अब होगा कैडर रिव्यू, इंस्पेक्टर के पद तक पहुंच सकेगा सिपाही

PM मोदी के जन्मदिन पर असम के वित्त मंत्री ने नहीं काटा केक, CM सोनोवाल को भी नहीं काटने दिया, जानिए वजह

जाकिर नाइक को भारत वापस लाने की प्रक्रिया में जुटी है सरकार: विदेश मंत्री