VIDEO: ISRO चीफ के आंसू छलके तो PM मोदी ने मजबूती से गले लगाया, पीठ पर फेरते रहे हाथ

पीएम मोदी वैज्ञानिकों को संबोधित करने के बाद इसरो कंट्रोल रूम से बाहर निकले थे. ISRO चीफ के सिवन उन्हें सी ऑफ करने आए इस दौरान उनकी आंखे नम हो गईं.

मिशन चंद्रयान-2 की लैंडिंग सफल न होने पर इसरो चीफ के सिवन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने भावुक हो गए. दरअसल पीएम मोदी वैज्ञानिकों को संबोधित करने के बाद इसरो कंट्रोल रूम से बाहर निकले थे. ISRO चीफ के सिवन उन्हें सी ऑफ करने आए इस दौरान उनकी आंखे नम हो गईं.

PM मोदी ने के सिवन को गले लगाकर हिम्मत दी. पीएम ने इसरो चीफ की पीठ थपथपाई, गले लगाया और उनका हौसला बढ़ाया. खुद पीएम भी इस मौके पर भावुक नजर आए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लैंडर का संपर्क टूट जाने के बाद इसरो के वैज्ञानिकों से कहा,‘‘देश को आप पर गर्व है. सर्वश्रेष्ठ के लिए उम्मीद करें. हौसला रखें. जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं. यह कोई छोटी उपलब्धि नहीं है.’’

उन्होंने कहा कि चंद्रयान के सफर का आखिरी पड़ाव भले ही आशा के अनुकूल न रहा हो, लेकिन हमें ये भी याद रखना होगा कि चंद्रयान की यात्रा शानदार रही है, जानदार रही है. हमारे हजारों वर्षों का इतिहास ऐसे उदाहरणों से भरा हुआ है जब शुरुआती रुकावटों के बावजूद हमने ऐतिहासिक सिद्धियां हासिल की हैं.

उन्होंने आगे कहा कि हर मुश्किल, हर संघर्ष, हर कठिनाई, हमें कुछ नया सिखाकर जाती है, कुछ नए आविष्कार, नई टेक्नोलॉजी के लिए प्रेरित करती है और इसी से हमारी आगे की सफलता तय होती हैं. ज्ञान का अगर सबसे बड़ा शिक्षक कोई है तो वो विज्ञान है. विज्ञान में विफलता नहीं होती, केवल प्रयोग और प्रयास होते हैं.