कृषि विधेयक पर बोले चिदंबरम, ‘जिस तरह सभी को 15 लाख मिले उसी तरह किसानों को MSP मिलेगा’

पी चिदंबरम (P Chidambram) ने सरकार के वादों पर तंज कसते हुए कहा कि क्या कृषि मंत्री और सरकार को लगता है कि किसान इतने मूर्ख हैं कि वो सरकार के खोखले वादों पर विश्वास कर लेंगे? क्या सरकार का एक भी वादा पूरा हुआ है?

P-chidambram

राज्यसभा में कृषि विधेयक (Farm Bill) पर चर्चा के दौरान विपक्ष के सवालों के जवाब में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को लेकर स्पष्ट किया कि यह पहले की ही तरह जारी रहेगी. केंद्रीय मंत्री के इस जवाब के बाद पूर्व वित्तमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम (P Chidambram) ने सवाल उठाया है. उन्होंने कहा कि आखिर सरकार को यह कैसे पता चलेगा कि किसान ने अपनी फसल किस व्यापारी को बेची है? देश में हर रोज होने वाले लाखों लेन-देन को कैसे जानेगी? ऐसे में अगर सरकार के पास डाटा नहीं होगा तो वह MSP की गारंटी कैसे देगी?

चिदंबरम ने ट्वीट करते हुए कहा कि ”कृषि मंत्री का कहना है कि सरकार यह गारंटी देगी कि किसान को MSP मिलता रहेगा. लेकिन मैं जानना चाहता हूं कि आज भी निजी व्यापार होता है. किसान को दिया जाने वाला मूल्य, एमएसपी की तुलना में काफी कम है. अगर कृषि मंत्री जादुई रूप से MSP सुनिश्चित कर सकते हैं, तो उन्होंने अब तक ऐसा क्यों नहीं किया है?”

चिदंबरनम ने आगे पूछा कि कृषि मंत्री को कैसे पता चलेगा कि ”किस किसान ने अपनी उपज किस व्यापारी को बेची है? वह हर रोज देश भर में होने वाले लाखों लेनदेन का पता कैसे लगा सकेंगे? यदि सरकार के पास डाटा नहीं होगा तो MSP की गारंटी कैसे होगी?”

क्या 15 लाख रुपये खाते में आए?

अपने एक अन्य ट्वीट में उन्होंने सरकार के वादों पर तंज कसते हुए कहा कि क्या मंत्री और सरकार को लगता है कि किसान इतने मूर्ख हैं कि वो सरकार के खोखले वादों पर विश्वास कर लेंगे और अगर सरकार अपने वादों की इतनी ही पक्की है तो भला हर भारतीय के बैंक खाते में 15 लाख रुपये अब तक क्यों नहीं आए?

सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया था, क्या वह पूरा हुआ? क्या सरकार ने हर साल 2 करोड़ रोजगार देने का अपना वादा पूरा किया? चिदंबरम ने पूछा कि जब इतने सारे वादे पूरे नहीं हुए तो किसानों की MSP का वादा पूरा होगा इसकी क्या गारंटी है?

Related Posts