महिलाओं को मुफ्त यात्रा के ‘केजरीवाल प्‍लान’ को DMRC ने चुनावी पटरी से उतारा

महिलाओं की मुफ्त यात्रा को लेकर DMRC ने केजरीवाल को दो प्रपोजल भेजे हैं, आइए आपको बताते हैं इसमें किन-किन बातों का जिक्र है...

Delhi Metro DMRC, महिलाओं को मुफ्त यात्रा के ‘केजरीवाल प्‍लान’ को DMRC ने चुनावी पटरी से उतारा

नई दिल्ली: हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं के लिए खास सौगात दी कि महिलाएं अब दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में मुफ्त में यात्रा कर सकेंगी. केजरीवाल ने कहा कि सारा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी.

इस मामले को लेकर DMRC ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है और केजरीवाल के सामने दो प्रस्ताव सामने रखे हैं. हालांकि इन दोनों प्रस्ताव के चलते केजरीवाल की चुनाव से जुड़ी राजनीति फीकी पड़ सकती है.

DMRC की स्कीम के हिसाब केजरीवाल की घोषणा के पूरा होने तक में दिल्ली में होने वाले चुनाव गुजर जाएंगे. हो सकता है कि इस योजना के जरिए केजरीवाल ने चुनाव जीतने की जो तैयारी की थी, उस बात का उन्हें फायदा नहीं मिल पाएगा.

DMRC ने 2 स्कीम बताई हैं. पहली है कि सॉफ्टवेयर बदलना पड़ेगा. केजरीवाल ने कहा है कि इसमें सालभर का समय लग सकता है. तब तक शॉर्ट टर्म तरीके में महिलाएं टोकन का इस्तेमाल कर सकेंगी. महिलाओं के लिए एंट्री अलग से होगी और उन्हें फ्री में टोकन मिलेगा.

केजरीवाल ने बताया कि हमारे हिसाब से तो इस स्कीम को आज ही लागू किया सकता है लेकिन मेट्रो का कहना है कि इसमें 8 महीने का समय लग सकता है.

दूसरा DMRC ने आंकलन किया है कि अभी 30 फीसदी महिलाएं सफर करती हैं जो फ्री होने के बाद 40 से 50 फीसदी हो जाएगा. दिल्ली के सीएम ने कहा कि हमें खुशी है कि दिल्ली की जनता ने ऐसी सरकार चुनी जो मुनाफे में और महिलाओं के लिए काम कर रही है. DMRC ने हमसे कमिटमेंट मांगी है कि आप ये वादा करें कि दिल्ली सरकार वादा करने के बाद पीछे नहीं हटेगी. हम यहां अपना सिस्टम बदलेंगे, ऐसे में दिल्ली सरकार सब्सिडी देने से मना नहीं करेगी.

इस योजना को लागू करने में 1566 करोड़ का खर्चा आएगा. महिलाओं के लिए पिंक टोकन बनवाएं जाएंगे और जहां टोकन विंडो बंद हैं उन्हें फिर से खुलवाया जाएगा. इसमें सभी यानी दिल्ली के बाहर की महिलाएं भी फ्री में सफर कर सकेंगी.

सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं को किराए से छुटकारा दिलाने के लिए नि:शुल्क यात्रा का फैसला किया है, इससे उन्हें सार्वजनिक परिवहन के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहन मिलेगा.

केजरीवाल ने बताया कि हमने केंद्र से कहा था कि किराया मत बढ़ाइए, लेकिन वे सहमत नहीं थे. हमने उनसे कहा कि हमारी 50-50 फीसदी की हिस्सेदारी है, इसलिए सब्सिडी का खर्चा भी 50-50 फीसदी उठाना चाहिए. वे इस पर भी सहमत नहीं थे. अब दिल्ली सरकार इसका पूरा खर्चा खुद उठाएगी.

दिल्ली सीएम ने यह भी बताया कि स्कूलो के अंदर 1.5 लाख कैमरे अलग से लगने शुरू हो गए हैं. 8 जून से दिल्ली में कैमरे लगने शुरू हो जाएंगे, 70 हजार कैमरों पर सर्वे हो गया है, आने वाले समय मे 2.5 लाख कैमरे लग जाएंगे.

Related Posts