चीन हमारी मातृभूमि पर है और वेबसाइट से दस्तावेज हटाने से तथ्य नहीं बदलेंगे: राहुल गांधी

ANI न्यूज एजेंसी के मुताबिक,  रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry of India) ने भी माना था कि 5 मई, 2020 के बाद से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) और विशेष रूप से गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीन का अतिक्रमण काफी बढ़ा है.
Rahul Gandhi said removing documents will not change facts, चीन हमारी मातृभूमि पर है और वेबसाइट से दस्तावेज हटाने से तथ्य नहीं बदलेंगे: राहुल गांधी

कांग्रेस (Congress) नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने चीन (China) के सहारे मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, “चीन के खिलाफ खड़े होने की बात तो भूल ही जाइए, भारत के प्रधानमंत्री में उनका नाम लेने तक की हिम्मत नहीं है.”

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

ANI न्यूज एजेंसी के मुताबिक,  रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry of India) ने भी माना था कि 5 मई, 2020 के बाद से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) और विशेष रूप से गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीन का अतिक्रमण काफी बढ़ा है. 5 और 6 मई को ही पैंगोंग त्सो में भारत और चीन की सेना के बीच में झड़प हुई थी.

“वेबसाइट से डॉक्‍यूमेंट हटा लेने से तथ्य नहीं बदलते”

इसके बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, “चीन के खिलाफ खड़े होने की बात तो भूल ही जाइए, भारत के प्रधानमंत्री में उनका नाम लेने तक की हिम्मत नहीं है. चीन के हमारे इलाके में होने को नकारने और वेबसाइट से डॉक्‍यूमेंट हटा लेने से तथ्य नहीं बदल जाएंगे.”

इन दस्तावेज में क्या लिखा था? 

ANI की तरफ से ट्वीट किए गए मंत्रालय के इन दस्तावेजों में लिखा था, “15 जून को दोनों पक्षों के बीच एक हिंसक झड़प हुई और दोनों पक्षों के लोग हताहत हुए. चीन द्वारा एकतरफा आक्रामकता से उत्पन्न पूर्वी लद्दाख में स्थिति संवेदनशील बनी हुई है और इसे विकसित होने के आधार पर कड़ी निगरानी और त्वरित कार्रवाई की आवश्यकता है. वर्तमान गतिरोध की लंबे समय तक बने रहने की संभावना है.”

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts