J&K,लद्दाख के गठन को चीन ने बताया गैरकानूनी तो भारत ने कहा- ये हमारा अभिन्न हिस्सा, दखल न दें

चीन की आपत्ति पर जम्मू कश्मीर और लद्दाख (Jammu Kashmir Ladakh) केन्द्र शासित प्रदेशों का गठन पर दिए गए बयान पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है.
MEA Spokesperson Raveesh Kumar, J&K,लद्दाख के गठन को चीन ने बताया गैरकानूनी तो भारत ने कहा- ये हमारा अभिन्न हिस्सा, दखल न दें

विश्व एकता दिवस के मौके पर जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) और लद्दाख (Ladakh) केंद्र शासित प्रदेशों का आधिकारिक गठन किया गया. इस पर चीन(China) से आपत्ति जाहिर की है. चीन के विदेश मंत्री ने इसे ‘‘गैर कानूनी और अमान्य’’ बताया. वहीं इस मामले पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार (Raveesh Kumar) ने चीन को दो टूक जवाब दिया है.

चीन की आपत्ति पर जम्मू कश्मीर और लद्दाख (Jammu Kashmir Ladakh) केन्द्र शासित प्रदेशों का गठन पर दिए गए बयान पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. एमईए प्रवक्ता रवीश कुमार (Raveesh Kumar) ने कहा कि चीन (China) का जम्मू कश्मीर और लद्दाख के बड़े इलाके पर कब्जा कायम है.

चीन को भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी देने से बचना चाहिए. उन्होंने कहा कि केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न हिस्सा है, हम अन्य देशों से भारत की संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करने की उम्मीद करते हैं.


गौरतलब है कि चीन ने जम्मू कश्मीर को दो केन्द्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के कदम पर बृहस्पतिवार को आपत्ति जतायी और इसे ‘‘गैर कानूनी और अमान्य’’ बताया. चीन ने कहा कि अपने प्रशासनिक अधिकार क्षेत्र में चीन के कुछ क्षेत्र को ‘‘शामिल’’ करने संबंधी भारत के फैसले ने बीजिंग की संप्रभुता को ‘‘चुनौती’’ दी है.

भारत सरकार ने पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांटने का निर्णय लिया था. इसके बाद राष्ट्रपति की ओर से भी प्रस्ताव पास किया गया जिसके बाद इस निर्णय के अनुसार गुरुवार को जम्मू-कश्मीर का दो केंद्र शासित प्रदेशों में बंटवारा हो गया है.

Related Posts