चीन ने की इमरान खाान की तारीफ, कहा- अभिनंदन की रिहाई का फैसला सकारात्मक कदम

चीन ने पाकिस्तान द्वारा भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को भारत वापस सौंपने के निर्णय का स्वागत करते हुए इसे ‘सद्भाव का संकेत’ बताया है.

नई दिल्ली: चीन ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की सराहना करते हुए कहा कि भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को भारत वापस सौंपने का निर्णय एक ‘सद्भाव का संकेत’ है.

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू केंग ने शुक्रवार को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, ‘चीन इस तनावपूर्ण माहोल में पाकिस्तान द्वारा सद्भावना के लिए उठाए गए कदम की सराहना करता है. उनके इस कदम से दोनों देशों के बीच युद्ध की बढ़ रही आशंका पर विराम लगा है जो दोनों देशों के लिए लाभदायक है.’  लू केंग ने शांति और स्थिरता की उम्मीद जताते हुए आगे कहा, ‘हमें उम्मीद है कि इस मुद्दे को लेकर दोनों देशों की तरफ से सकारत्मक कदम देखने को मिलेगा.

बता दें कि 14 फरवरी को हुए पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को भारत- पाकिस्तान नियंत्रण रेखा के नजदीक खैबर-पख्‍तूनख्‍वा प्रांत के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद आतंकी कैंपों पर हमला किया था. भारतीय विदेश मंत्रालय ने अधिकारिक बयान में बताया कि, ‘इस कार्रवाई में बहुत बड़ी संख्या में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी, ट्रेनर, सीनियर कमांडर और जिहादियों के समूह मारे गए हैं, ये लोग भारत पर फ़िदायीन हमले करने की तैयारी कर रहे थे. बालाकोट का ठिकाना मौलाना यूसुफ अजहर चला रहा था, जिसे उस्ताद गौरी के नाम से भी जाना जाता था, वह मसूद अजहर का साला है.’

जिसके बाद पाकिस्तान ने 27 फरवरी को भारतीय सीमा में घुसकर सैन्य संस्थानों को निशाना बनाने की कोशिश की. भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार के मुताबिक, ‘पाकिस्तान ने हमारे सैन्य संस्थानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी. हमने पाकिस्तान के प्रयास को असफल करते हुए उसके एक विमान को मार गिराया है. इस दौरान हमारा एक मिग 21 बाइसेन का एक पायलट मिसिंग है. पाकिस्तान ने कहा है कि पायलट उनके कब्जे में है. हम तथ्य की जांच कर रहे हैं.’

वहीं पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ़ गफ़ूर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि उनकी वायु सेना ने बुधवार सवेरे भारत प्रशासित कश्मीर में छह ठिकानों पर हमले किए. उनका कहना है, ‘हमने हमले अपने बचाव में किए हैं. पाकिस्तान की सेना के पास जवाब देने के अलावा कोई चारा नहीं था.’

उन्होंने कहा कि वो भारत के तरीक़े से जवाब देने की बजाय ऐसे मुल्क की तरह जवाब देना चाहते थे जो ज़िम्मेदार है. भारत- पाकिस्तान के बीच रिश्तों में तल्खियां के बीच जब पीएम इमरान ख़ान ने भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई का ऐलान किया तो ऐसी उम्मीद जगी की दोनों देशों के बीच तनाव कम होगा और बातचीत के आसार बनेंगे.