जम्मू कश्मीर में बड़ी साजिश रच रहा पाकिस्तान, आईएसआई को ड्रैगन का ऑर्डर!

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) को चीन (China) से निर्देश मिले हैं कि सर्दियों से पहले वो जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में हथियारों की एंट्री कराए और किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम दे.

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 7:31 am, Sat, 26 September 20

हर बार मुंह की खाने के बाद भी चीन और पाकिस्तान (China and Pakistan) अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहे हैं. लद्दाख (Ladakh) में तनाव को कम करने के लिए बातचीत की कोशिशें की जा रही है, लेकिन इन सबके बीच मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन, पाकिस्तान के साथ मिलकर एक नई साजिश रच रहा है.

रिपोर्ट्स में सरकारी सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि खुफिया जानकारी मिली है कि चीन जम्मू कश्मीर के रास्ते पाकिस्तान की मदद से भारत में घुसपैठ की कोशिश कर रहा है. इनपुट मिले हैं कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को चीन से निर्देश मिले हैं कि सर्दियों से पहले वो जम्मू कश्मीर में हथियारों की भारत में एंट्री कराए और किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम दे.

सर्दियों में बर्फबारी के चलते घुसपैठ की कोशिशें पूरी नहीं हो पातीं. चीन की तरफ से मिले अशांति फैलाने के निर्देशों की वज़ह से घाटी में हथियारों, ड्रोन्स के मिलने का सिलसिला पिछले काफी समय से बढ़ा है, हालांकि घुसपैठ की कोशिशों को अंजाम देने में पाकिस्तान नाकामयाब हो रहा है.

हथियारों पर चीन के निशान

इन हथियारों में से ज़्यादातर पर चीन के निशान भी देखे गए हैं. घाटी में सुरक्षाबलों की मुस्तैदी के चलते आतंकियों का लग़ातार सफाया किया जा रहा है. संदिग्ध गतिविधियों के चलते सुरक्षाबलों के अधिकारियों के घाटी में लग़ातार दौरे भी हाल ही के समय में हुए हैं.

सूत्र कहते हैं कि भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा घुसपैठ रोधी ग्रिड के चलते पाकिस्तान घाटी में हिंसा के स्तर को बढ़ाने के लिए न आतंकियों और न हथियारों की घुसपैठ कर पा रहा है. हालांकि आईएसआई की तरफ से ज़्यादा से ज़्यादा हथियारों और घाटी में भेजने का अल्टीमेटम दिया गया है.

घाटी में आतंक के खिलाफ अभियान तेज़

इस तरह की रिपोर्ट्स के चलते सुरक्षाबलों ने घाटी में आतंक के खिलाफ अभियान तो तेज़ किया ही है साथ ही LAC पर घुसपैठ रोधी ग्रिड को और मज़बूत कर दिया है. हालात की समीक्षा के लिए सेना प्रमुख एमएम नरवने से लेकर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के प्रमुख राकेश अस्थाना और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के प्रमुख एपी माहेश्वरी, सभी पिछले 10 दिनों में जम्मू-कश्मीर का दौरा कर चुके हैं.

इन हथियारों का चीन करता है इस्तेमाल

खुफिया सूचनाओं के मुताबिक पाकिस्तान के ISI ने चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) की संपत्ति के संरक्षण के बहाने CPEC से जुड़ी एक चीनी फर्म से बड़ी संख्या में हेक्साकॉप्टर की खरीद की है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक सुरक्षा बलों ने चीनी कंपनी नोरिनको की बनाई गई EMEI टाइप 97 NSR राइफल की कई रिकवरी घाटी से की है. इन हथियारों का इस्तेमाल चीनी सेना करती है. हाल ही में ये पाकिस्तान की फ्रंटियर फोर्स को भी दिए गए.