कश्मीर मामले पर दिखी चीनी मीडिया की कसमसाहट, लिखा- सीमाओं को लेकर नई दिल्ली लापरवाह

कश्मीर पर पाकिस्तान की मदद ना करने की कसमसाहट चीन में दिखने लगी है. चीन का प्रमुख अखबार भारत को धमकियां देने पर उतर आया है.

चीन का सरकारी अखबारी ग्लोबल टाइम्स भारत के खिलाफ ज़हर उगल रहा है. पाकिस्तानी विदेश मंत्री और भारतीय विदेश मंत्री के चीन दौरे के बाद ग्लोबल टाइम्स में एक लेख छपा है जिसमें भारत को लेकर कई विवादित टिप्पणियां लिखी गई हैं.

अखबार ने लिखा कि चुनाव में मिली जीत के बाद भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘अति आत्मविश्वास’ के आधार पर कश्मीर में ‘भू-राजनीतिक चालबाजी की और एकतरफा’ फैसला लिया. अखबार ने अपने संपादकीय के अंत में चेतावनी भी दी है कि ‘राष्ट्रवादी भारत का कोई भविष्य नहीं’ है. इस संपादकीय का शीर्षक है, ‘एकतरफा कदम भारत के लिए जोखिम पैदा करेगा.’  अखबार ने लिखा कि सीमाओं के मामले में नई दिल्ली बेहद लापरवाह है. वो लगातार एकतरफा निर्णय लेते हुए क्षेत्रीय स्थिति पर यशास्थिति के प्रभाव को समाप्त कर रहा है. china, कश्मीर मामले पर दिखी चीनी मीडिया की कसमसाहट, लिखा- सीमाओं को लेकर नई दिल्ली लापरवाह
भारत के कदम पड़ोसी देशों के हितों को चुनौती दे रहे हैं, लेकिन वह चाहता है कि ये देश उकसावे के फैसलों को गले उतार लें. संपादकीय में कहा गया है, “नई दिल्ली को अति आत्मविश्वास है. भारत में हुए 2019 के आम चुनाव ने मोदी प्रशासन की शक्ति और स्थिति को मजबूत किया.” संपादकीय में जम्मू और कश्मीर को विभाजित करके दो केंद्र शासित प्रदेशों में बदलने को लेकर कहा गया है कि जातीयता या धर्म के आधार पर एक स्वायत्त क्षेत्र को केंद्र प्रशासित प्रदेश में बदलना अत्यधिक संवेदनशील है. अखबार ने लिखा है कि पाकिस्तान मजबूत जवाबी कार्रवाई न करे, यह विचार करना अकल्पनीय होगा.

china, कश्मीर मामले पर दिखी चीनी मीडिया की कसमसाहट, लिखा- सीमाओं को लेकर नई दिल्ली लापरवाह

संपादकीय में कहा गया है, “20वीं सदी में कश्मीर को लेकर भारत-पाकिस्तान तीन लड़ाइयां लड़ चुके हैं. यह दोनों के बीच एक विवादास्पद क्षेत्र है. भारत के कदम से सबसे ज्यादा प्रभाव पाकिस्तान पर पड़ा है.”