‘आज़म खान का सिर कलम कर संसद के दरवाजे पर लटका दो’, BJP नेता की मांग

यूपी बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष आफताब आडवाणी ने कहा क‍ि आज़म खान को सख्त सजा मिलनी बहुत जरूरी है.
UP BJP, ‘आज़म खान का सिर कलम कर संसद के दरवाजे पर लटका दो’, BJP नेता की मांग

अमरोहा: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष आफताब आडवाणी ने आज़म खान का सिर कलम करने की बात कही है. उन्‍होंने कहा कि “आज़म खान बार-बार महिलाओं का अपमान करता है जो देश के लिए काफी खतरनाक हो गया है. इसलिए उसे पागल कुत्ते की मौत देते हुए संसद के बाहर उसका सिर कलम कर के रखा जाना चाहिए ताकि और लोगों को भी पता लगे कि देश में महिलाओं का अपमान करने वालों के साथ क्या सलूक होता है.”

आफताब ने कहा कि मैंने पहले ही बोला था कि यह बुड्ढा पागल हो गया है और आज भी कहता हूं कि इसको सख्त सजा मिलनी बहुत जरूरी है.” लोकसभा में गुरुवार को रमा देवी तीन तलाक विधेयक पर चर्चा के दौरान सदन की अध्यक्षता कर रही थीं. मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक 2019 पर चर्चा में भाग लेते हुए आज़म खान ने सदन की अध्यक्षता कर रहीं रमा देवी पर टिप्पणी की, जिसका सत्ता पक्ष ने विरोध किया. सत्ता पक्ष ने रामपुर के सांसद से माफी मांगे जाने की मांग की.

रमा देवी के संघर्ष की दास्तान, जब श्रीप्रकाश शुक्ल ने पति को AK-47 से किया था छलनी

टिप्पणी पर आपत्ति जाहिर करते हुए बिहार के शिवहर की सांसद रमा देवी ने कहा कि यह बोलने का तरीका नहीं और टिप्पणी को कार्यवाही से हटाने का आदेश दिया. इसके जवाब में आज़म खान ने कहा, “आप बहुत आदरणीय है. आप मेरी बहन की तरह हैं.” इस बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला आसन पर आ गए और कहा कि इस तरह के असंसदीय शब्द का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए.

आज़म खान ने दोहराया कि रमा देवी उनकी बहन जैसी हैं और अगर उन्होंने उनके खिलाफ असंसदीय शब्द का इस्तेमाल किया है तो वह सदन से इस्तीफा देने को तैयार हैं. उनके समर्थन में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, “मैं नहीं मानता की आज़म खानजी ने आसन (रमा देवी) का अनादर किया है. ये (भाजपा सांसद) लोग बहुत अशिष्ट हैं. ये उंगली उठाने वाले कौन हैं.” उन्होंने कहा, “अगर आप (लोकसभा अध्यक्ष) सोचते हैं कि खान द्वारा इस्तेमाल किया गया शब्द असंसदीय है, तो उसे हटाया जाना चाहिए.”

इस पर बिड़ला ने कहा, “आप सब के लिए यह कहना आसान है कि इसे हटाइए, उसे हटाइए, लेकिन हटाने की जरूरत क्यों पैदा हुई? एक बार कोई टिप्पणी की गई तो यह पहले से ही पब्लिक डोमेन में है. इसलिए हम सभी को संसद की मर्यादा को ध्यान में रखते हुए बोलना चाहिए.”

ये भी पढ़ें

आज़म खान पर बिफरीं BJP सांसद रमा देवी, कहा- महिलाओं को कैसे देखता है, ये जगजाहिर है

लोकसभा में बुरी तरह घिरे आज़म खान, उठी आवाज- ऐसे शख्‍स को सदन से बाहर करो

Related Posts