Lockdown के बीच किसानों को 1000 करोड़ रुपये के फसल बीमा क्लेम का भुगतान

मंत्रालय के अनुसार, प्रधानमंत्री किसान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत प्रत्येक लाभार्थी किसान को सालाना दिए जाने वाले 6,000 रुपये में से 2,000 रुपये, अप्रैल महीने में दी जाने वाली पहली किस्त के रूप में दिए जा चुके हैं.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 10:45 am, Mon, 6 April 20

कोरोना वायरस (CoronaVirus) के प्रकोप की रोकथाम के मकसद से सरकार के घोषित देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान देश के विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदशों में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना यानी (PMFBY) के तहत 1,000 करोड़ रुपये के दावों का भुगतान किया गया. यह जानकारी केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की ओर से रविवार को दी गई.

मंत्रालय की दी गई जानकारी के अनुसार, छत्तीसगढ़ में 462.24 करोड़ रुपये, हरियाणा में 26.08 करोड़ रुपये, जम्मू-कश्मीर में 14.71 करोड़ रुपये, राजस्थान में 327.67 करोड़ रुपये, कर्नाटक में 75.76 करोड़ रुपये, मध्यप्रदेश में 17.90 करोड़ रुपये, महाराष्ट्र में 21.06 करोड़ रुपये, तमिलनाडु में 21.17 करोड़ रुपये, उत्तर प्रदेश में 41.08 करोड़ रुपये और तेलंगाना में 0.31 करोड़ रुपये समेत देशभर में कुल 1,008 करोड़ रुपये का भुगतान लॉकडाउन के दौरान पीएमएफबीवाई (PMFBY) के तहत किए गए दावों के तौर पर किया गया है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

मंत्रालय के अनुसार, प्रधानमंत्री किसान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत प्रत्येक लाभार्थी किसान को सालाना दिए जाने वाले 6,000 रुपये में से 2,000 रुपये, अप्रैल महीने में दी जाने वाली पहली किस्त के रूप में दिए जा चुके हैं. इस प्रकार 4.91 करोड़ किसान परिवारों को 9,826 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए जा चुके हैं.

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) की शुरुआत जनवरी 2016 को की थी. इस योजना के तहत सरकार बाढ़, आंधी, ओले और तेज बारिश से खराब हुई फसल के संकट से किसानों को राहत देने के लिए खरीफ की फसल के लिये 2 फीसदी प्रीमियम और रबी की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम का भुगतान करती है.

(आईएएनएस)

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे