CM केजरीवाल ने कुछ प्राइवेट अस्पतालों पर लगाए रिश्वत लेने के आरोप, जारी किया सख्त निर्देश

CM केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि दिल्ली के कुछ अस्पताल इतने शक्तिशाली हो गए हैं. सभी पार्टियों के अंदर उनकी पहुंच हैं, उन्होंने धमकी दी है कि हम Covid-19 के मरीज नहीं लेंगे जो करना है कर लो.
CM Kejriwal accuses some private hospitals, CM केजरीवाल ने कुछ प्राइवेट अस्पतालों पर लगाए रिश्वत लेने के आरोप, जारी किया सख्त निर्देश

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने शनिवार को राजधानी के कुछ प्राइवेट अस्पतालों पर आरोप लगाते हुए कहा, “कुछ अस्पताल बिना पैसे के मरीजों को भर्ती नहीं कर रहे हैं और न ही उन्हें बेड मुहैया करा रहे हैं.” केजरीवाल ने कहा कि अस्पताल पहले कहते हैं कि बेड नहीं हैं, लेकिन ज्यादा अपील करो तो दो लाख-पांच लाख मांगने लगते हैं.

दरअसल सीएम केजरीवाल ने शनिवार को डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ये बात कही. उन्होंने कहा, “दिल्ली के कुछ अस्पताल इतने शक्तिशाली हो गए हैं, सभी पार्टियों के अंदर उनकी पहुंच हैं, उन्होंने धमकी दी है कि हम Covid-19 के मरीज नहीं लेंगे जो करना है कर लो. मैं उनको कहना चाहता हूं कोरोना (Coronavirus) के मरीज तो तुमको लेने पड़ेंगे.”

नहीं बख्शे जाएंगे ऐसे अस्पताल

केजरीवाल ने अस्पतालों को चेतावनी देते हुए कहा, “जो दो-चार अस्पताल इस गुमान में हैं कि वो अपनी दूसरी पार्टी के आकाओं के जरिए कुछ करवा लेंगे, वो अपनी ब्लैक मार्केटिंग करेंगे. तो उनको मैं आज चेतावनी देना चाहता हूं, उनको बख्शा नहीं जाएगा.”

हर प्राइवेट अस्पताल में तैनात होगा मेडिकल प्रोफेशनल

सीएम ने आगे कहा कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) का एक मेडिकल प्रोफेशनल हर निजी अस्पताल के रिसेप्शन पर बैठेगा. वो हमें ये जानकारी देगा कि कितने बेड खाली हैं? और कितने भर गए हैं? कोई जाएगा तो वो ये सुनिश्चित करेगा कि उसको भर्ती करें.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

‘कोई अस्पताल संदिग्ध मरीजों को भर्ती करने से मना नहीं करेगा’

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर कोई मरीज गंभीर है, लेकिन उसका टेस्ट नहीं हुआ तो ऐसे मरीज को सारे अस्पताल लेने से मना कर देते हैं. आज हम ये ऑर्डर निकाल रहे हैं कि किसी भी संदिग्ध मरीज को कोई भी अस्पताल देखने से मना नहीं करेगा और अस्पताल उसका टेस्ट कराएगा.

जनता को पता न होने के चलते होती है काला बाजारी

उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा क्योंकि जनता को पता नहीं होता कि सुविधा कहां उपलब्ध हैं. इसलिए मंगलवार को हमने एक मोबाइल ऐप लांच किया था और उस पर सारी जानकारियां डाल दी थीं. सीएम ने कहा कि कुछ लोग ऐसे टूट पड़े, जैसे हमने कोई जानकारी डाल कर गड़बड़ कर दी हो. हालांकि अस्पताल फिर भी गड़बड़ कर रहे हैं.

सभी प्राइवेट अस्पतालों के मालिकों से ली जाएंगे जानकारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि कल से एक-एक अस्पताल के मालिकों को बुलाया जाएगा और उनसे सभी जानकारियां ली जाएंगी. उन्होंने कहा कि कुछ अस्पतालों की समस्या सही होती है, हम उसको मान लेते हैं, लेकिन कोरोना के इलाज से तो समझौता नहीं हो सकता है. इसलिए कुछ दिन दीजिए अगर यह अस्पताल नहीं मानें तो हम सख्त कार्रवाई करने से हिचकिचाएंगे नहीं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts